कोरोना काल में देश भर में विशेष और क्लोन ट्रेन चलाने के बाद अब रेलवे आर्थिक राजधानी मुंबई (Mumbai) में भी लोकल ट्रेनों की संख्या को बढ़ाने जा रहा है. वेस्टर्न रेलवे (WR) ने मुंबई में लोकल ट्रेनों की सेवाओं को बढ़ाने का ऐलान किया है. रेलवे के मुताबिक वेस्टर्न रेलवे 21 सितंबर 2020 से 350 की जगह अब 500 स्पेशल सबरबन ट्रेनें चलाएगा. इन ट्रेनों को अलग-अलग रूटों पर चलाया जाएगा. इस सेवा के शुरू होने से लोकल ट्रेनों में सफर करने वाले यात्रियों को काफी सुविधा होगी.

354 स्टेशनों पर कैशलेस ट्रांजेक्शन की सुविधा
वेस्टर्न रेलवे ने 354 स्टेशनों पर कैशलेस ट्रांजैक्शन की सुविधा उपलब्ध कराई है. रोज औसतन लगभग 4.5 लाख यात्री इन सुविधाओं को फायदा ले रहे हैं. इन स्टेशनों पर रिजर्व और अनरिजर्व टिकट खरीदने वाले काउंटरों पर, कैटरिंग यूनिट, पार्सल ऑफिस में और अन्य तरह के लेनदेन को पूरी तरह से डिजिटल कर दिया गया है.

वेस्टर्न रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी सुमित ठाकुर के मुताबिक रोज लगभग 4.5 लाख लोग इन डिजिटल ट्रांजेक्शन की सुविधा का फायदा ले रहे हैं. इनमें टिकट और पार्सल बुकिंग के अलावा रेलवे की ऑक्शन सेल सहित रेलवे की सीमा में किए गए अन्य पेमेंट शामिल हैं. इन डिजिटल पेमेंट्स के लिए रेलवे की ओर से यात्रियों को ई रसीद भी दी जाती है.

केवल इन लोगों को है यात्रा करने की अनुमति
मुंबई में चलाई जा रही लोकल ट्रेनों में फिलहाल सभी लोग यात्रा नहीं कर सकते हैं. इन ट्रेनों में वे लोग ही यात्रा कर सकते हैं जिन्हें राज्य सरकार ने आवश्यक सेवाओं के तहत चलने की अनुमति दी हो. एग्जाम देने जा रहे स्टूडेंट्स को रेलवे ने लोकल ट्रेनों में सफर की इजाजत दी है. इन स्टूडेंट्स को अपने कॉलेज का आई कार्ड और एग्जाम का हॉल टिकट लेकर स्टेशन पहुंचना होगा.