कोरोना वायरस महामारी के चलते बंद पड़ी लोकल ट्रेनों को शुरू किया जा सकता है, बशर्तें राज्य सरकारें इसके लिए तैयार हों। रेलवे बोर्ड के चेयरमेन वाई.के. यादव ने नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत के साथ गुरुवार को संवाददाता सम्मेलन करते हुए कहा कि मुंबई की लोकल ट्रेनों के अलावा, जो केवल आवश्यक कर्मचारियों को ढो कर रही हैं, उपनगरीय रेलवे सेवाओं को अनलॉक 4 में भी निलंबित रखा दिया गया है।

वाई.के. यादव ने कहा- “हम उपनगरीय रेल सेवाओं को फिर से शुरू करने पर विचार करेंगे अगर वे इस बारे में हमसे संपर्क करेंगे।” यादव ने आगे कहा- “हमें कोविड-19 के फैलने को कम करना होगा। एक बार जैसे ही राज्य सरकारें हमसे कहती है, उसके बाद हम सेवाओं को शुरू करने पर काम करेंगे।”

पश्चिम बंगाल में लोकल ट्रनों को शुरू करने के बारे में चेयरमेन ने कहा, “पश्चिम बंगाल सरकार के हम लगातार संपर्क में हैं। राज्य में लगातार लॉकडाउन लगाए जा रहे हैं। पिछले महीने स्पेशल ट्रेनों को भी रोका किया गया था। मेट्रो ने अपने ऑपरेशंस शुरू किए हैं। लोकल ट्रेनों को दोबारा शुरू करने के बारे में हम सरकार के साथ चर्चा कर रहे है।”

मुंबई के वकीलों को भी मुंबई लोकल ट्रेनों में चढ़ने की इजाजत दे दी गई है। पहले इसकी इजाजत आवश्यक सेवाओं में लगे कर्मचारियों के लिए ही थी। यह सुविधा 18 सितंबर से 7 अक्टूबर तक रहेगी।

इधर, पश्चिम रेलवे ने गुजरात के अहमदाबाद से तीन जोड़ी क्लोन स्पेशल ट्रेन चलाने का निर्णय लिया गया है। मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी सुमित ठाकुर ने गुरुवार को यहां बताया कि पश्चिम रेलवे द्वारा 21 सितम्बर से पांच जोड़ी क्लोन स्पेशल ट्रेनों के परिचालन का  निर्णय लिया गया है। ये  ट्रेनें अधिसूचित समय पर हमसफर टाइप रेकों के साथ चलेंगी और पूरी तरह से आरक्षित होंगी।

इन पांच  जोड़ी ट्रेनों में से तीन अहमदाबाद से और एक -एक बांद्रा टर्मिनस और सूरत से चलेंगी। इन ट्रेनों में अहमदाबाद- दरभंगा, अहमदाबाद- दिल्ली, अहमदाबाद- पटना, बांद्रा टर्मिनस- अमृतसर और सूरत- छपरा विशेष ट्रेनें शामिल हैं। ये ट्रेनें हमसफर रेक के साथ चलेंगी और इनमें हमसफर ट्रेनों का प्रभार लागू होगा। क्लोन स्पेशल ट्रेनें उन विशेष ट्रेनों के अतिरिक्त होंगी जो पहले से ही परिचालन में हैं।