रेलवे ने अबतक यह साफ नहीं किया है कि यात्रियों से कितना चार्ज वसूला जाएगा लेकिन फिलहाल यह जानकारी जरूर दी गई है कि ‘यूजर फी’ बेहद ही मामूली होगी और इससे यात्रियों पर ज्यादा बोझ नहीं पड़ेगा।

कोरोना संकट और बढ़ती महंगाई के बीच भारतीय रेलवे अब यात्रियों से ‘यूजर फी’ वसुलेगी। रेलवे ने यह फैसला यात्रियों को वर्ल्ड क्लास सुविधाएं देने और स्टेशनों के रिडेवलेपमेंट करने के लिए लिया है। रेलवे के मुताबिक देश के करीब 15 फीसदी स्टेशनों पर ही यह चार्ज वसूला जाएगा। यानी कि देश के करीब 1050 स्टेशनों पर ही यात्रियों को टिकट के लिए थोड़े और पैसे खर्च करने होंगे।

हालांकि रेलवे ने अबतक यह साफ नहीं किया है कि यात्रियों से कितना चार्ज वसूला जाएगा लेकिन फिलहाल यह जानकारी जरूर दी गई है कि ‘यूजर फी’ बेहद ही मामूली होगी और इससे यात्रियों पर ज्यादा बोझ नहीं पड़ेगा।

रेलवे बोर्ड के चेयरमेन वीके यादव ने गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा ‘अब एयरपोर्ट की तरह रेलवे भी यूजर चार्ज वसूलेगा। दिल्ली, मुंबई जैसे बड़े स्टेशनों पर यूजर चार्ज संभव है। रेलेवे का यात्रियों को वैल्यू एडेड सेवा मुहैया कराने पर फोकस है।’

बता दें कि दुनिया के कई देश यात्रियों से इसी तरह का ‘यूजर फी’ वसूल करते हैं। ऐसे देशों में रेलवे इन्फ्रास्ट्रक्चर बेहद ही शानदार है। साफ-सफाई, छोटी-छोटी सुविधाओं का खासा ख्याल रखा जाता है जो कि फिलहाल भारतीय रेलवे में न के बराबर है।