Indian Railways To Be World's First 100% Electric Railways With Zero Carbon  Emissions By 2030 | Curly Tales

बोचहां के यात्री सुधीर कुमार ने कंफर्म टिकट नहीं मिलने पर रेलमंत्री से ट्वीट कर शिकायत की। इससे कर्मचारियों में हड़कंप मच गया। काउंटर पर आनन-फानन में यात्री एक नंबर टोकन देकर कंफर्म टिकट दिया गया। यात्री ने कहा कि 15 दिन से सूरत के टिकट के लिए दौड़ रहे हैं सभी ट्रेन में वेटिंग है। प्रत्येक दिन तत्काल में टिकट लेने के लिए लाइन लग रहे हैं। दो-तीन नंबर पर खड़े हो रहे हैं इससे कंफर्म टिकट नहीं मिल रहा था।

कमाई बंद होने से स्थिति खराब

कई एजेंट को अधिक पैसे लेकर टिकट देने को कहा लेकिन कोई तैयार नहीं हुआ। जिससे पूरा परिवार सूरत जा नहीं पा रहा है। लॉकडाउन के कारण कमाई बंद है। स्थिति बहुत खराब हो गई है, सूरत जाकर फैक्ट्री में काम करना है। लेकिन कंफर्म टिकट मिल ही नहीं रहा है। रेल मंत्री को ट्वीट के जरिए टिकट के बारे में जानकारी दी। इसके बाद सोनपुर मंडल के अधिकारियों ने एक नंबर टोकन देकर टिकट दिलाया। कर्मचारियों ने कहा कि रेल मंत्री को ट्वीट करने पर मंत्रालय ने सीनियर डीसीएम से जवाब मांगा। सीनियर डीसीएम ने बताया कि संबंधित यात्री को कंफर्म टिकट दिलाया गया है।  

आरपीएफ की टीम ने कंफर्म टिकट के साथ टिकट दलाल को दबोचा आरपीएफ चौकी कमांडर वेदप्रकाश वर्मा के नेतृत्व में सोमवार को सरैयागंज स्थित पंकज मार्केट से एक टिकट दलाल को कंफर्म टिकट के साथ धर दबोचा । इससे टिकट दलाल में अफरा तफरी मच गई । जानकारी के अनुसार टिकट दलाल को पकड़ने के लिए आरपीएफ चौकी कमांडर के नेतृत्व में एक टीम तैयार किए गए। इसमें सब इंस्पेक्टर से लेकर सिपाही तक को शामिल किया गया। इसके बाद टीम ने पंकज मार्केट में दलाल के दुकान के पास पहुंचा। उसके बाद उससे फोन पर संपर्क किया गया। उसके बाद उससे एक कंफर्म टिकट खरीदने के बहाना बनाया गया ।

उन पर पूरा डिटेल लेने के बाद दलाल पैसा लेने के लिए पहुंचा। एक टिकट पर ₹ 800 अधिक पर तय हुआ। जवानों ने दलाल को पैसा देने के क्रम में गिरफ्तार कर लिया । आरपीएफ चौकी कमांडर वेद प्रकाश वर्मा ने कहा कि पंकज मार्केट के रहने वाला असित कुमार को टिकट के साथ गिरफ्तार किया गया है। उसके पास से एक आईफोन नगद आधार कार्ड समेत कागजात बरामद किया गया है। अन्य दलाल को पकड़ने के लिए छापेमारी शुरू है ।