This image has an empty alt attribute; its file name is DELHI-MUM-DIGITAL-PASS-1024x692.png

रेलवे ने अपने कर्मचारियों को बेहतर सुविधा देने के लिए ई-पास जारी करना शुरु कर दिया है। ई-पास पर क्यूआर कोड छपा होगा। इसे स्कैन करके मोबाइल फोन से कर्मचारी टिकट बुक करा सकते हैं।

टिकट बुक कराते समय कम्प्यूटर पर अपने परिवार और रेल कर्मी का विवरण ले लेगा। इसके बाद रेल कर्मचारी को केवल अपनी यात्रा की जनकारी दर्ज करानी होगी। अपने मोबाइल फोन पर ओटीपी वेरीफाई कराना होगा। ओटीपी की वैधता दस मिनट के अंदर टिकट बुक कराना होगा। कर्मचारी के मोबाइल पर मैसेज आ जायेगा। ई-पास से कराए गए आरक्षण का कोई शुल्क रेल कर्मचारी को नहीं देना होगा। इस सुविधा का लाभ के लिए रेल कर्मचारियों को एचआरएमएस पर जाकर पास के लिए आवेदन करना होगा। एचआरएम पर जाकर पास के लिए आवेदन करना होगा। जिसमें अपना और अपना परिवार का पूर्ण विवरण दर्ज करना होगा।

जारी किए गए पास व पीटीओ का पूरा ब्यौरा एचआरएम एस पर उपलब्ध रहेगा। जिसे कर्मचारी कभी भी अपना नंबर डालकर देख सकता है। सभी कर्मचारियों के लिए यह सुविधा उपलब्ध हो गई है। ई-पास के जरिए आरक्षित व अनारक्षित दोनों तरह की टिकट कमचारी ले सकेंगे। अक्टूबर तक कर्मियों के सामने कागज वाले पास लेने का विकल्प भी रहेगा। लेकिन नंवम्बर से रेल कर्मचारी सिर्फ ई-पास का प्रयोग ही कर सकता है।

रेलवे के अधिकारियों ने बताया कि इस योजना को लागू करने के लिए अपने सॉफ्टवेयर में बदलाव करेंगा। रेलवे ने ई-पास के लिए सरकुलर जारी कर दिया है। जिसमें बताया गया है कि सेवानिवृत्त कर्मचारियों को एक अक्टूबर से इस सुविधा का लाभ मिलेगा।