Have waitlisted or RAC train ticket? Now you can check real-time ...

ट्रेन (Train) से सफर करना आने वाले दिनों में और महंगा होने जा रहा है. ज़ी मीडिया को मिली एक्सक्लूसिव खबर के मुताबिक बड़े रेलवे स्टेशनों से ट्रेन पकड़ने के लिए यात्रियों को स्टेशन यूजर फीस (Station User Fees) चुकाना पड़ सकती है. रेलवे की ओर से ये कदम एयरपोर्ट के यूजर डेवलपमेंट फीस (UDF) की तर्ज पर उठाया जा सकता है. आपको बता दें कि एयरपोर्ट पर हवाई यात्रियों से अलग से UDF वसूला जाता है, जो फिलहाल 281 रुपये है. रेलवे भी टिकट बुकिंग के साथ ही यात्रियों से स्टेशन यूजर फीस वसूलेगी जिससे टिकट की कीमत बढ़ जाएगी.  

कब से लगेगी स्टेशन यूजर फीस?
सूत्रों के मुताबिक रेलवे मंत्रालय इस साल के अंत तक यानी दिसंबर 2020 तक स्टेशन यूजर फीस को नोटिफाई भी कर देगा. लेकिन इसे लागू तभी किया जाएगा, जब बड़े रेलवे स्टेशनों को रीडेवलपमेंट प्रोजेक्ट के तहत प्राइवेट प्लेयर नया और आधुनिक बनाकर शुरू कर देगा. जिन स्टेशनों को रीडेवलपमेंट प्रोजेक्ट के तहत विकसित किया जा रहा है, उनमें मुंबई, जयपुर, हबीबगंज, चंडीगढ़, नागपुर, बिजवासन, आनंद विहार वगैरह शामिल हैं. इन बड़े स्टेशनों पर आने वाले समय में स्टेशन से ट्रेन पकड़ने के लिए यूजर डेवलपमेंट फीस ली जाएगी.

निजी कंपनियां करेंगी कमाई दरअसल, सरकार स्टेशनों को रीडेवलपमेंट प्रोजेक्ट के तहत आधुनिक और यात्रियों के लिए ज्यादा सुविधाओं वाला बना रही है. इन प्रोजेक्ट्स को PPP (Public Private Partnership) के तहत तैयार किया जा रहा है. जहां निजी कंपनियों को बिडिंग प्रक्रिया यानी बोली के जरिए आमंत्रित कर रीडेवलपमेंट का जिम्मा दिया जाएगा. इसके बदले में ये निजी कंपनियां स्टेशनों पर कॉमर्शियल कॉम्प्लेक्स बनाकर और स्टेशन यूजर फीस के जरिए कमाई करेंगी. आपको बता दें कि रेलवे ने मुंबई CST के लिए भी बिडिंग प्रक्रिया की शुरुआत कर दी है.