Indian Railways: 150 private passenger trains to run on 100 routes ...

साढ़े चार महीनों से बंद ट्रेन परिचालन की सुगबुगाहट तेज हो गई है। नियमित नहीं सही, लेकिन कुछ महत्वपूर्ण टे्रनों को स्पेशल बनाकर पटरी पर दौड़ाने की तैयारी चल रही है। इसके लिए रेलवे के डिवीज़न से कुछ महत्वपूर्ण ट्रेनों की सूची मांगी है। सबकुछ ठीक रहा तो जल्द गाडिय़ों के चलने के आसार हैं। इधर, रेलवे ने भी कैरेज एंड वैगन, स्टेशनों के कर्मियों और अधिकारियों को तैयार रहने को कहा है। गाडिय़ों का मेंटनेंस भी चल रहा है। रेलवे की कोशिश है कुछ एक्सप्रेस और सुपरफास्ट का परिचालन शुरू कराएं। दरअसल, कोरोना के कारण रेलवे अभी किसी भी तरह का कोई भी रिस्क नहीं लेना चाहती और इन्तजार में है कि कब सरकार से हरी झंडी मिले।

रेलवे ने कई ट्रेनों के रूट में किया बदलाव, देखें पूरी लिस्ट

अगर इधर कुछ दिन में आप रेल सफर करने वाले हैं तो ट्रेनों का टाइम टेबल पता करके ही निकले, क्याेंकि उत्तर रेलवे के लखनऊ मंडल ने अपनी कई ट्रेनों के रूट में बदलाव किया है। ऐसा रेलवे ट्रैक दोहरीकरण काम के चलते किया गया है।

देखें किन ट्रेनों के रूट में किया गया बदलाव : 

 – लोकमान्य तिलक टर्मिनस-वाराणसी कामायनी एक्सप्रेस 6 सितंबर तक प्रयागराज-प्रयागराज रामबाग-मंडुवाहीड-वाराणसी के रास्ते चलेगी। 

– वाराणसी-लोकमान्य तिलक टर्मिनस कामायनी एक्सप्रेस 7 सितंबर तक वाराणसी-मंडुवाहीड-प्रयागराज रामबाग-प्रयागराज मार्ग से चलाया जाएगा। 

– गाजीपुर सिटी-आनंद विहार टर्मिनल एक्सप्रेस 5 सितंबर को प्रयागराज-प्रयागराज रामबाग-मंडुवाहीड-वाराणसी-वाराणसी-सिटी मार्ग से जाएगी।

– आनंद विहार टर्मिनल-गाजीपुर सिटी एक्सप्रेस 4 सितंबर को वाराणसी-सिटी-वाराणसी- मंडुवाहीड-प्रयागराज रामबाग-प्रयागराज मार्ग से गुजरेगी।

– बांद्रा टर्मिनस-गाजीपुर सिटी एक्सप्रेस 4 सितंबर को प्रयागराज-प्रयागराज रामबाग-मंडुवाहीड-वाराणसी-वाराणसी-सिटी मार्ग से जाएगी।

– गाजीपुर सिटी-बांद्रा टर्मिनस एक्सप्रेस 6 सितंबर को वाराणसी-सिटी-वाराणसी- मंडुवाहीड-प्रयागराज रामबाग-प्रयागराज मार्ग से चलाने का फैसला किया गया है।

– हावड़ा जं.-नई दिल्ली पूर्वा एक्सप्रेस 3 सितंबर को पंडित दीन दयाल उपाध्याय जं.-चुनार-मिर्जापुर-प्रयागराज के रास्ते गुजरेगी। 

– नई दिल्ली- हावड़ा जं. पूर्वा एक्सप्रेस 4 सितंबर को प्रयागराज-मिर्जापुर-चुनार-पंडित दीन दयाल उपाध्याय जं. मार्ग से चलाने का फैसला किया गया है। 

इसमें देश कई जोन से कई गाडिय़ों को स्पेशल के रूप में चलाने पर निर्णय होने की संभावना है। इससे पहले जुलाई में ही भागलपुर से विक्रमशिला एक्सप्रेस, अगरतल्ला एक्सप्रेस, अंग एक्सप्रेस, एलटीटी एक्सप्रेस, सूरत-भागलपुर, गुवाहाटी-लोकमान्य तिलक टर्मिनल को प्राथमिकता दी गई थी। इन ट्रेनों को स्पेशल बनकर चलाने की तैयारी भी शुरू कर दी गई थी। इस बीच लॉकडाउन लागू होने के कारण परिचालन शुरू नहीं हो सका। ट्रेनों के चलने से भागलपुर के अलावा मुंगेर, लखीसराय, जमुई और बांका जिलों के यात्रियों को काफी सहूलियत होती। भागलपुर से दिल्ली, मुंबई, हावड़ा, बेंगलुरु, अगरतल्ला जाने वाले यात्रियों की संख्या ज्यादा है।

पार्सल एक्सप्रेस चलाने की जोर पकड़ी मांग

भागलपुर से हावड़ा और दूसरे शहरों के लिए पार्सल स्पेशल ट्रेन चलाने की मांग भी जोड़ पकड़ ली है। चैंबर ऑफ कॉमर्स ने कहा कि पार्सल स्पेशल के चलने से व्यापारियों को सामान आदान-प्रदान में काफी सहूलियत होगी। भागलपुर में कोलकाता से कपड़ा, सोना और अन्य सामानों की आपूर्ति होती थी। लॉकडाउन तीसरे चरण में यहां से पार्सल स्पेशल का परिचालन होता था। अभी पार्सल के नहीं चलने से यहां के व्यापारियों को ट्रांसपोर्ट पर निर्भर रहना पड़ रहा है। इस कारण व्यापारियों को परेशान होना पड़ रहा है। यहां के व्यापारी नवगछिया और दूसरे स्टेशनों पर चलने वाली गाडिय़ों से सामान मंगवा रहे हैं।