Railway Recruitment Board Exam (RRB) Rail transport India Railway ...

लॉकडाउन के पहले छुट्टी स्वीकृत कराकर अपने मुख्यालय से बाहर गए कर्मचारी यातायात बंद होने से वापस अपनी डियूटी पर उपस्थित नहीं हो पाए थे। ऐसे में पूर्व निर्धारित रेल नियमों के अनुसार इन कर्मचारियों को विशेष आकस्मिक अवकाश स्वीकार करते हुए वेतन भुगतान की मांग ईसीआरकेयू प्रारंभ से ही कर रहा था। समय समय पर मुख्यालय से दिशा-निर्देश जारी किये गए परन्तु वे दिशा-निर्देश स्पष्ट नहीं होने की वजह से अधिकतर सुपरवाइजर और अधिकारियों के लिए दुविधा की स्थिति थी।

दूसरी तरफ कर्मचारियों से भी अनुपस्थित अवधि के लिए अपनी छुट्टी के लिए आवेदन करने का दबाव बनाया जा रहा था। परंतु इस मामले पर प्रारंभ से ही नजर रख रहे ईस्ट सेन्ट्रल रेलवे कर्मचारी यूनियन के केंद्रीय पदाधिकारियों ने महाप्रबंधक स्तर पर विभिन्न चरणों में बातचीत जारी रखी। विशेष रूप से महामंत्री एसएनपी श्रीवास्तव, अपर महामंत्री डीके पांडेय तथा केंद्रीय कोषाध्यक्ष मो ज़्याउद्दीन विभिन्न स्तरों पर इस विषय को लेकर चर्चा करते हुए आवश्यक पत्र जारी कराने के प्रयास में लगे रहे।

उक्त जानकारी देते हुए आल इंडिया रेलवेमेंस फेडरेशन के जोनल सेक्रेटरी सह शाखा सचिव ओ पी शर्मा ने बताया कि अंततः 11 अगस्त को महाप्रबंधक(कार्मिक) कार्यालय से पत्र संख्या – आई/5455/2020 तथा फाईल संख्या – ईसीआर/हेड क्वार्टर/पर्सनल (रूल्स)/50/2020 को डिप्टी सी पी ओ/ हेड क्वार्टर/ईसीआर द्वारा दिशानिर्देश जारी कर दिए गए हैं। जिसमें विभिन्न परिस्थितियों के अनुसार विशेष आकस्मिक अवकाश, वर्क फ्राम होम, डियूटी या अनुपस्थिति दर्शाने को बिन्दुवार रूप से स्पष्ट किया गया है।

उक्त पत्र में इन दिशा-निर्देशों को 20 मार्च 2020 से लागू करने की व्यवस्था दी गई है। इस पत्र की प्रतिलिपि महामंत्री ईसीआरकेयू को भी उपलब्ध कराई गई है। इस दिशा-निर्देश के जारी किए जाने से बहुत से रेलकर्मचारियों को जो लॉकडाउन में परिचालन बंद हो जाने की वजह से अपने कार्य स्थल पर नहीं आ पाए थे उन्हें बड़ी राहत मिली है ।