Govt. set to make more employees eligible for annual bonuses ...

कोरोना काल में आर्थिक संकट झेल रही रेलवे अपने कर्मचारियों को मिलने वाली सुविधाओं में लगातार कटौती कर रही है। ऐसे में दुर्गापूजा बोनस पर भी कहीं कैंची ना चल जाए। इसे लेकर यूनियन अभी से ही सक्रिय हो गई है। ऑल इंडिया रेलवे मेंस फेडरेशन ने इस बार भी रेल कर्मचारियों के लिए 78 दिनों के बोनस की मांग कर दी है। रेलवे बोर्ड चेयरमैन को पत्र भेजकर बोनस की प्रक्रिया शुरू करने का संदेश भी दे दिया है।

इस बारे में फेडरेशन से जुड़ी ईस्ट सेंट्रल रेलवे कर्मचारी यूनियन के अपर महामंत्री डीके पांडे ने कहा कि कोरोना काल में भी रेल कर्मचारियों ने पूरी लगन और मेहनत के साथ काम किया है। माल लदान से लेकर कामगारों को देश के विभिन्न राज्यों से उनके घर तक लाने के लिए चलाई गई श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में भी सक्रिय भागीदारी निभाई है। इस दौरान कई कर्मचारियों को काम के दौरान जान भी गंवानी पड़ी। इन सभी को ध्यान में रखकर रेल मंत्रालय को अपने कर्मचारियों के प्रति सहानुभूति पूर्वक विचार करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि ऑल इंडिया रेलवे मेंस फेडरेशन के महामंत्री ने रेलवे बोर्ड चेयरमैन को इस संबंध में पत्र भी लिखा है। पांडे ने कहा कि 78 दिनों से कम का बोनस किसी भी हाल में स्वीकार नहीं किया जाएगा। रेल मंत्रालय जल्द से जल्द इसकी प्रक्रिया शुरू करें।