Indian Railways to provide Content on Demand Service (CoD) on ...

कोरोना महामारी के कारण रेल बोर्ड ने रेलवे कर्मचारियों (Railway employees) के स्थानांतरण पर रोक लगा दी है। अब अगले एक साल तक रेलवे में स्थानांतरण नहीं किया जाएगा। इससे ट्रांसफर (Transfer) होने वाले तमाम रेलवे कर्मचारियों को राहत मिली है। रेलवे बोर्ड ने यह फैसला कोरोना संक्रमण (Corona infection) की गंभीरता और रेलवे की आर्थिक स्थिति   के मध्यनजर लिया है। क्योंकि, ट्रांसफर के दौरान कर्मचारी को एक माह का अतिरिक्त वेतन और ट्रांसपोर्ट अनाउंस (Transport Announcement) दिया जाता है।

एनई रेलवे मजदूर यूनियन (NE Railway Majdoor Union) के केंद्रीय अध्यक्ष बसंत चतुर्वेदी ने बताया कि कोरोना महामारी की वजह से ट्रेनों के ना चलने और रेलवे की आर्थिक स्थिति (economic condition) ठीक ना होने की वजह से एआईआरएफ (AIRF) के महामंत्री शिव गोपाल मिश्रा ने चेयरमैन रेलवे बोर्ड को पत्र भेजकर साल 2020 में होने वाले आवधिक स्थानांतरण को रोकने का अनुरोध किया था।

इसके बाद रेलवे बोर्ड ने होने वाले स्थानांतरण पर रोक लगा दी है। रेलवे ने पत्र भेजकर सभी महाप्रबंधकों को आवधिक स्थानांतरण 31 जुलाई 2020 तक स्थगित करने के आदेश दिए गए हैं। चूँकि 31 जुलाई तक की अवधि समाप्त हो गयी है इसलिए AIRF के महामंत्री शिव गोपाल ने रेलवे बोर्ड के DG(HR) को पत्र लिखकर मांग की है कि रेलवे कर्मचारियों के तबादले 31 मार्च 2021 तक रोक दिए जाएँ।