Covid-19: India suspends passenger railway operations until 17 May

अब रेलकर्मी अपना आवास ड्यूटी स्‍थल से आठ किलोमीटर की बजाय 60 किलोमीटर के दायरे में रख सकते हैं।  दक्षिण-पूर्व रेलवे मेंस कांग्रेस और चक्रधरपुर मंडल रेल प्रबंधक के बीच हुई वीडियो कांफ्रेंसिंग में  रेलकर्मियों के कई मामलों को सुलझाया गया है। इसमें  रेलकर्मियों के रेंडम कोरोना टेस्ट के लिए निजी पैथोलॉजी से टाई-उप जल्द ही करने पर सहमति बनी  है।

आठ किलोमीटर के बजाय अब 60 किलोमीटर के दायरे तक रेलकर्मी अपना आवास रख सकते हैं। तय हुआ कि चक्रधरपुर मंडल के टाटानगर सहित सभी स्टेशनों की रेलवे कॉलोनियों को नियमित सैनिटाइज किया जाएगा। साथ ही फॉगिंग और एंटी लार्वा का छिड़काव किया जाएगा। इसके लिए मेडिकल विभाग को निर्देश जारी किया गया है। टेलीकॉम विभाग में उपकरणों की कमी थी जिसे देखते हुए जल्द ही आवश्यक उपकरणों की आपूर्ति करने का निर्देश जारी किया गया है। वीएचएफ सेट और कंट्रोल फोन की कमी से रनिंग कर्मचारियों को होने वाली परेशानी को दूर करने की बात बैठक में रखी गई।

ये मुद्दे भी उठे इतना ही नहीं, इंटरनेट मॉडम व फोन सेट के नहीं होने से ऑनलाइन काम में परेशानी होने लगी है। इसके निष्पादन की भी बात रखी गई। मेल व एक्सप्रेस के चालक को मालगाड़ी में कार्य करने के मुद्दे को भी उठाया गया। बैठक मेंमंडल रेल प्रबंधक विजय कुमार साहू, वरीय मंडल इलेक्ट्रिक इंजीनियर परिचालन राजेश रोशन, मेंस कांग्रेस के मंडल संयोजक शशि मिश्रा, वरीय मंडल  अभियंता सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।