JMM will chase DRM office for negligence in train operations in ...

कोरोना महामारी को लेकर चक्रधरपुर रेल मंडल के डीआरएम विजय कुमार साहू ने एक नया फरमान जारी किया है। जिसके तहत अब रेलकर्मियों को सात घंटे मंडल कार्यालयों में कैद रहना पड़ेगा। रेलकर्मी भोजन अवकाश के दौरान भी अपने रेल क्वार्टर में खाना खाने नहीं जा सकेंगे।

भोजन के लिए अब रेलकर्मियों को घर से टिफिन लाना पड़ेगा या फिर रेलवे कैंटीन का सहारा लेना पड़ेगा। कोरोना को लेकर यह तमाम एहतियात डीआरएम द्वारा जारी की गई है। चूंकि लगातार रेलकर्मी कोरोना का शिकार हो रहे थे। डीआरएम द्वारा मंडल कार्यालय के मेन गेट में एक नोटिस चस्पा कर रेलकर्मियों को इससे अवगत करा दिया गया है।

नोटिस में रेलकर्मियों को सुबह 08:30 बजे से सुबह 10:30 बजे तक मेन गेट से प्रवेश करने की अनुमति दी गई है। साथ ही रेलकर्मी को मेन गेट से बाहर संध्या 05:30 बजे के बाद ही निकल सकते हैं। इस आदेश का सख्ती से पालन करने का निर्देश रेलवे सुरक्षा बल यानी आरपीएक के जवानों को दिया गया है। इस नए नियम को सोमवार से ही लागू किया जाना था।

परंतु शनिवार व रविवार को अवकाश रहने के कारण सभी रेलकर्मी इस नियम से अवगत नहीं हुए थे। जिसके कारण सोमवार को इस नए नियम की जानकारी देते हुए मंगलवार से इसे सख्ती से पालन करने को लेकर लेट से आने वाले रेलकर्मियों को मेन गेट के बाहर रोक दिया गया। बाद में उन्हें चेतावनी देकर मेन गेट से प्रवेश करने दिया गया।