Modi and India's Privatization Train Wreck - YouTube

नई दिल्ली प्राइवेट ट्रेन चलाने की दिशा में सरकार और रेलवे बहुत तेजी से कदम बढ़ा रहा है। बोली की प्रक्रिया से पहले मंगलवार को Indian Railway ने 16 बोलीधारकों के साथ बैठक की। इन निजी कंपनियों की तरफ से ट्रेन के संचालन संबंधी कई सवाल थे, उन्हीं सवालों को लेकर रेलवे की तरफ से आज बैठक का आयोजन किया गया था।

क्राइटेरिया, प्रॉसेस, ऑपरेशन संबंधी थे सवाल
जानकारी के मुताबिक, बैठक में एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया, बिडिंग प्रॉसेस, प्रोक्योरमेंट ऑफ रेक्स, ट्रेन ऑपरेशन, कंपोजिशन क्लस्टर संबंधी सवालों पर रेलवे ने निजी कंपनियों को जवाब दिया। रेलवे की तरफ से कहा गया कि जिस रूट पर प्राइवेट ट्रेन चलेगी, उस रूट को लेकर पैसेंजर ट्रैफिक की जानकारी निजी कंपनियों के साथ साझा की जाएगी।

12 अगस्त को फिर होगी बैठक
जानकारी के मुताबिक, बिडिंग प्रक्रिया से पहले निजी कंपनियों के साथ एक और बैठक 12 अगस्त को होगी। रेलवे 31 जुलाई तक इंट्रेस्टेड बिडर्स के सवालों का लिखित जवाब भी देगा।

2023 में 12 प्राइवेट ट्रेनों के साथ होगी शुरुआत
इससे पहले खबर आई थी कि 12 प्राइवेट ट्रेनों के साथ 2023 में परिचालन शुरू कर दिया जाएगा। उसके बाद अगले वित्त वर्ष में ऐसी 45 रेलगाड़ियां शुरू होंगी। रेलवे के एक अधिकारी के मुताबिक ऐसी सभी 151 रेलगाड़ियां अपने पूर्वनिर्धारित कार्यक्रम के अनुसार 2027 तक शुरू हो जाएंगी। रेलवे ने अपने नेटवर्क पर निजी कंपनियों की यात्री रेलगाड़ियों के परिचालन की अनुमति देने की अपनी योजना को औपचारिक रूप से आगे बढ़ाने के लिए इस महीने की शुरुआत में देशभर के 109 जोड़ा रूटों पर 151 आधुनिक यात्री रेलगाड़ियां चलाने के लिए प्रस्ताव आमंत्रित किए हैं।