4 Ways Telemedicine Is Changing Healthcare | HealthLeaders Media

रेलवे के रिटायर्ड कर्मचारियों के लिए खुशखबरी है । रिटायर्ड कर्मचारियों को अब स्वास्थ्य संबंधित बीमारियों में परामर्श के लिए अस्पताल जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी । उत्तर पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक ने टेली मेडिसन सुविधा का जयपुर में शुभारंभ किया है। जिसके माध्यम से रिटायर्ड कर्मचारी घर बैठे ही टेलीफोन एवं व्हाट्सएप वीडियो कॉल के माध्यम से परामर्श ले सकेंगे। जल्द ही सेवा को पूरी तरह से शुरू कर दिया जाएगा।

वरिष्ठ नागरिकों को अपने कमजोर प्रतिरक्षा और साथ ही अन्य बीमारियों के कारण कोविड ​​-19 संक्रमण का अधिक खतरा रहता है। इसलिए सेवानिवृत्त रेलवे लाभार्थियों हेतु उत्तर  पश्चिम रेलवे के केंद्रीय अस्पताल जयपुर में टेलीमेडिसिन सुविधा का शुभारंभ महाप्रबंधक आनन्द प्रकाश द्वारा किया गया।उत्तर पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी  अभय शर्मा के अनुसार, टेलीमेडिसिन सेवा को कोविड-19 महामारी के समय में सेवानिवृत्त रेलकर्मियों की सुविधा के लिए एक पायलट परियोजना के रूप में शुरू किया जा रहा है। महाप्रबंधक ने कहा कि टेलीमेडिसिन सुविधा के कारण  सेवानिवृत्त रेल कर्मियों को अस्पताल ना आने के कारण कोरोना संक्रमण का खतरा कम रहेगा।

उन्हें टेलीफोन के माध्यम से परामर्श दिया जाएगा तथा दवाएं उपलब्ध करवाई जाएंगी।यह सुविधा सामान्य तथा विशेषज्ञ चिकित्सा सेवाओं के लिए प्रदान की जाएगी। इस सुविधा के लिए मरीज टेलीफोन पर पूर्व अपॉइंटमेंट प्राप्त कर सकते हैं। मरीज को मेडिसिन, सर्जरी,  कान- नाक- गला रोग, अस्थि रोग,  दंत रोग मनोरोग, महिला रोग आदि सभी विशिष्ट सेवाओं पर परामर्श दिया जाएगा। आवंटित समय पर रोगी का व्हाट्सएप वीडियो कॉल प्राप्त किया जाएगा और नुस्खे के साथ परामर्श उसी पर दिया जाएगा।  दवाओं को मरीज के नजदीकी रेलवे अस्पताल से भेजा जा सकता है और वहाँ जांच भी करवाई जा सकती है।