Free railway ticket : Indian Railways reprimanded for giving free ...

तकनीकी पढ़ाई करने के बाद रेलवे में प्रशिक्षण प्राप्त करने वालों को शीघ्र रेलवे में नौकरी मिलेगी। ट्रेड यूनियन प्रतिनिधियों को रेलवे मंत्री पीयूष गोयल ने आश्वासन दिया है। रेलवे मंत्री ने वेबिनार के द्वारा रेलवे के मान्यता प्राप्त सभी यूनियनों के राष्ट्रीय, जोनल व मंडल अध्यक्ष व मंत्री से साथ बैठक की। इसमें सभी रेल मंडल के प्रवर मंडल कार्मिक अधिकारी के साथ नरमू के मंडल मंत्री राजेश चौबे और सीनियर डीपीओ विपुल गोयल शामिल थे। ट्रेड यूनियन प्रतिनिधियों ने कहा कि आईटीआइ, पॉलीटेक्निक करने के बाद जो छात्र प्रशिक्षण लेने के लिए रेलवे के विभिन्न तकनीकी शाखा में आते हैं, उनको रिक्त पदों पर नौकरी दी जाए।

संरक्षा संवर्ग में काम करने वाले बीमार कर्मियों के स्थान पर आश्रितों को नौकरी देने का भी मुद्दा उठाया। ट्रेड यूनियन सदस्यों ने रेलवे के स्कूलों को निजी हाथों पर सौंपने का कड़ा विरोध किया। गैंगमैन को सभी विभागों के रिक्त पदों पर पदोन्नति करने की मांग की। ट्रेड यूनियन प्रतिनिधियों द्वारा उठा गए मुद्दे पर रेल मंत्री ने कहा प्रशिक्षु को नौकरी देने पर गंभीरता से विचार किया जा रहा है। इसका शीघ्र समाधान किया जाएगा। संरक्षा से जुड़े बीमार कर्मचारियों के आश्रितों को नौकरी देने के लिए शीघ्र समिति बनाई जा रही है। ट्रेन को निजी हाथों में सौंपने के विरोध करने पर मंत्री ने कहा कि सरकार फिर से विचार कर रही है। नरमू के मंडल मंत्री ने राजेश चौबे ने बताया कि रेलवे कर्मयों से जुड़े मामला रेल मंत्री से समक्ष रखा गया है। मंडल रेल प्रशासन को दिशा निर्देश जारी किया है।