Indian Railways saving ₹1100 crore per year in diesel cost with ...

गोमो के सहायक रेल चालक और कोडरमा के रेल चालक कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। दोनों कर्मचारियों के संपर्क में आये पांच अन्य रेल चालक व सहायक चालक को बुधवार को 14 दिनों के क्वारंटाइन पर भेज दिया गया। गोमो के सहायक रेल चालक सात जुलाई को गोमो क्रू लॉबी में आया था। इस दौरान पांच कर्मचारियों के संपर्क में भी रहा। बाद में नौ जुलाई से 15 जुलाई तक अवकाश लेकर बिहार के गया जिले के पहाड़पुर गांव गया था।

हालांकि 12 जुलाई को वह जनशताब्दी एक्सप्रेस से गोमो वापस आया गया था। यहां तबीयत नासाज होने पर 14 जुलाई को पीएमसीएच में जांच कराया, जहां उसे पॉजिटिव पाया गया। दूसरी ओर, कोडरमा का रेल चालक (शंटिंग) आठ से 13 जुलाई तक छुट्टी पर था। इसी बीच 10 जुलाई को पटना में जांच के दौरान उसे पॉजिटिव पाया गया। हालांकि उसके किसी के संपर्क में नहीं आने की बात कही जा रही है। धनबाद रेल मंडल का पॉइंट्समैन भी कोरोना की गिरफ्त में आ गया है। तीन कर्मचारियों पर कोरोना के प्रहार से रेल महकमा खौफजदा है।

हालांकि 12 जुलाई को वह जनशताब्दी एक्सप्रेस से गोमो वापस आया गया था। यहां तबीयत नासाज होने पर 14 जुलाई को पीएमसीएच में जांच कराया, जहां उसे पॉजिटिव पाया गया। दूसरी ओर, कोडरमा का रेल चालक (शंटिंग) आठ से 13 जुलाई तक छुट्टी पर था। इसी बीच 10 जुलाई को पटना में जांच के दौरान उसे पॉजिटिव पाया गया। हालांकि उसके किसी के संपर्क में नहीं आने की बात कही जा रही है। धनबाद रेल मंडल का पॉइंट्समैन भी कोरोना की गिरफ्त में आ गया है। तीन कर्मचारियों पर कोरोना के प्रहार से रेल महकमा खौफजदा है।

रेल कर्मियों में कोरोना संक्रमण का खतरा : धनबाद रेल मंडल में कोरोना पॉजिटिव मिले तीनों कर्मचारियों में पाया गया है कि तीनों ही छुट्टी लेकर बाहर गए थे। वहां से लौटने के बाद उन्हें पॉजिटिव पाया गया है। इसे देखते हुए रेलवे ने छुट्टियों पर रोक लगा दी है। सीनियर डीओएम ने इससे जुड़ा आदेश भी जारी कर दिया है। जारी पत्र में कहा गया है कि एक पॉइंट्स मैन पॉजिटिव पाया गया है। उसके दूसरे साथी भी पॉजिटिव हो सकते हैं। इस वजह से पूर्व में जारी सभी आदेशों का पालन करना होगा।

मुख्यालय से बाहर नहीं जाएंगे कर्मचारी : पत्र में कहा गया है कि कोरोना वायरस से संक्रमित होने के खतरे को देखते सामान्य परिस्थितियों में छुट्टियों पर रोक लगा दी गई है। विशेष परिस्थिति में ही छुट्टियां मिलेंगी। इस दौरान रेल कर्मचारियों के मुख्यालय से बाहर जाने पर रोक लगा दी गई है। साथ ही ऐसा करते पकड़े जाने पर अनुशासनात्मक कार्यवाही की चेतावनी भी दी गई है। बाहर से लौटने वाले हर कर्मचारी को मेडिकल सर्टिफिकेट देना होगा। इसके बाद ही ड्यूटी ज्वाइन करने की अनुमति मिलेगी।