With New Hotspots, Coronavirus on Verge of Pandemic

कोरोना का संकट कम होने की बजाए बढ़ता ही जा रहा है। जानलेवा बीमारी के तेजी से फैलने से हर कोई सहम गया है। पिछले एक सप्ताह से वैश्विक महामारी ने रेल कालोनियों में पांव पसारना शुरू कर दिया है। यही वजह है कि रेलवे ने अलर्ट जारी कर दिया गया। बाहर गए या किसी अन्य के संपर्क में आए कई कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम कर दिया गया है।

इस कारण अधिकांश विभागों में काम करने वालों की संख्या कम हो गई। कार्यालय आने वाले कर्मचारी शारीरिक दूरी का पालन करते हुए काम कर रहे हैं। सुरक्षा की ²ष्टि से हर कर्मी की थर्मल स्कैनिग की जा रही है। हालांकि कर्मचारियों की कमी के आड़े कोई काम प्रभावित नहीं हो रहा है। मंडल रेलवे प्रबंधक पंकज सक्सेना कर्मचारी व अधिकारियों से वीडियो कांफ्रेंस मीटिग लगातार कर रहे हैं। किसी भी परेशानी का समाधान वो तत्काल निकाल रहे हैं।

पिछले कुछ दिनों से जानलेवा बीमारी ने तेजी से पांव पसारना शुरू कर दिया है। स्थिति यह हो गई है कि मंडल रेल प्रबंधक के परिचारक के कोरोना संक्रमित होने के बाद डीआरएम कार्यालय को सील कर दिया गया। जबकि रेलवे की लोको कालोनी, यूरोपियन कालोनी सहित अन्य कालोनियों में कई रेल कर्मचारी कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। एहतियात के तौर पर कालोनियों में युद्धस्तर पर साफ सफाई कराई जा रही है। साथ ही दवाओं का छिड़काव भी कराया जा रहा है। कोरोना संक्रमित हो रहे रेल कर्मचारियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए वर्क फ्रॉम होम (घर पर रहकर कार्य करना) की व्यवस्था कर दी गई है।

कर्मचारी घर पर ही रहकर कार्य कर रहे हैं। आनलाइन मीटिग कर कार्यों की मानीटरिग की जा रही है। आज खुलेगा डीआरएम कार्यालय डीआरएम परिचारक के कोरोना संक्रमित मिलने के बाद 29 जून से डीआरएम कार्यालय को सील कर दिया गया है। सील की अवधि पूरी होने के बाद मंगलवार को कार्यालय को खोला जाएगा। कार्यालय को रोजाना सैनिटाइज किया जा रहा था। जबकि हर कर्मियों की रैंडम टेस्टिग कराई जा रही है।