Northern Railway cancels 33 trains due to Lucknow's Charbagh ...

हाइलाइट्स

  • लखनऊ-कानपुर रूट पर पटरियों से गायब हुईं पैंड्रोल क्लिप
  • एक-दो नहीं बल्कि करीब 50 क्लिप गायब होने से मचा हड़कंप
  • रेलवे अफसर बोले, रातभर बैठकर चौकीदारी नहीं की जा सकती
  • अफसर विकास कुमार ने कहा, रात में कोई चोर चुरा ले गया होगा

ऐसे समय जब लखनऊ कानपुर के बीच सेमी हाई स्पीड ट्रेन चलाने की योजना पर विचार चल रहा है, वहां इसी रूट पर एक साथ लगभग 50 पैंड्रोल क्लिप गायब हो गईं। इस तरह एक-दो नहीं बल्कि 50 क्लिप गायब होना रेलवे की बड़ी चूक है। पटरियों की सुरक्षा की जिम्मेदारी संभालने वालों की लापरवाही यात्रियों पर भारी पड़ सकती थी।

इस संबंध में बातचीत करने पर सीनियर सेक्शन इंजीनियर का जवाब और भी हैरान करने वाला है। उन्होंने कहा कि वह दिनभर रेल पटरी की रखवाली नहीं करते हैं, कोई चोर चुरा ले गया होगा। पैंड्रोल क्लिप गायब होने की घटना शुक्रवार की है। लाइनमैन लाइन का निरीक्षण करता हुआ मगरवारा से उन्नाव की तरफ आ रहा था। उसी समय उसकी नजर पटरियों को स्लिपर के साथ पकड़ बनाने वाली पैंड्रोल क्लिप पर पड़ी तो उसके होश उड़ गए। उसने देखा कि बड़ी संख्या में पैंड्रोल क्लिप गायब हैं।

पोल संख्या 57/2 के पास हुई इस घटना की जानकारी गंगा घाट रेलवे स्टेशन को दी गई और कानपुर की तरफ से आ रही एक्सप्रेस ट्रेनों को रुकवाया। मौके पर रेल पथ विभाग के कर्मचारी पहुंचे और उन्होंने गायब पैंड्रोल क्लिप को फिर से लगवाने का काम शुरू किया। इस दौरान लगभग डेढ़ घंटा रेल यातायात बाधित रहा।
अफसर बोले, रातभर चौकीदारी नहीं कर सकते
इस संबंध में बातचीत करने पर सीनियर सेक्शन इंजीनियर विकास कुमार ने कहा कि रात में किसी ने क्लिपों को चोरी किया है। रात भर चौकीदारी नहीं होती है। चोर चुरा ले गया होगा। उन्होंने कहा कि क्लिप मगरवारा-उन्नाव के बीच गायब हुई थीं। जिनकी संख्या 40 से 50 के बीच थी। जो एक तरफ से लगातार गायब थीं। जिसे ठीक करवाकर यातायात बहाल किया गया। सीनियर सेक्शन इंजीनियर की लापरवाही रेलवे के साथ यात्रियों पर भारी पड़ सकती है। इस संबंध में स्थानीय स्तर पर कोई भी अधिकारी कुछ बोलने को तैयार नहीं है। डीआरएम उत्तर रेलवे से बात करने का प्रयास किया गया, लेकिन उन्होंने फोन कॉल्स का जवाब नहीं दिया।