Govt approves 78-day wages as productivity bonus to railway ...

रेलवे कर्मचारियों के पास और पीटीओ (सुविधा टिकट आदेश) अब उनके मोबाइल में होंगे। पास और पीटीओ बनवाने के लिए कर्मचारियों को विभाग और बाबुओं के टेबल का चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा। इंतजार नहीं करना पड़ेगा, टिकट बुक कराने में भी आसानी होगी। यह सुविधा देने के लिए पूर्वोत्तर रेलवे सहित भारतीय रेलवे में मानव संसाधन प्रबंधन प्रणाली (एचआरएमएस) लागू हो रही है।

आनलाइन करना होगा आवेदन, चार जोन में चल रहा परीक्षण रेलकर्मियों को पास और पीटीओ बनवाने के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा। 24 घंटे के अंदर पास और पीटीओ बनकर एचआरएमएस पर आ जाएगा। दरअसल, सेंटर फार रेलवे इंफार्मेशन सिस्टम (क्रिस) जोनल रेलवे के सहयोग से एचआरएमएस पर अलग माड्यूल तैयार किया है। माड्यूल पर भारतीय रेलवे के मध्य रेलवे, पूर्व रेलवे, उत्तर रेलवे और दक्षिण रेलवे में परीक्षण चल रहा है। परीक्षण सफल होने के बाद पूर्वोत्तर रेलवे में भी यह सुविधा लागू हो जाएगी। 

तैयार हो रही रेलकर्मियों की कुंडली एचआरएमएस पर रेलकर्मियों की कुंडली तैयार हो रही है। कर्मचारियों का समस्त विवरण एचआरएमएस में लोड किया जा रहा है। इसके लिए छह अंक का कोड तैयार किया जा रहा है। कार्मिक विभाग ने 5381 कर्मचारियों का कोड भी तैयार कर लिया है। यह व्यवस्था पूरी तरह ऑनलाइन होगी। रेलकर्मी अपने मोबाइल पर ही नौकरी से संबंधित अपना पूरा विवरण देख सकेंगे। मसलन, सेवा पुस्तिका, अवकाश की जानकारी, पदोन्नति, प्रशिक्षण व वेतन संबंधी सूचनाएं आदि। अगर कहीं कोई गड़बड़ी होगी तो उसे तत्काल दुरुस्त किया जा सकेगा पूर्वोत्तर रेलवे के मुख्यालय सहित लखनऊ, वाराणसी और इज्जतनगर मंडल में लगभग 40 हजार कार्यरत और 15 हजार सेवानिवृत्त कर्मचारी हैं।

सिस्टम को पारदर्शी और सुविधाजनक बनाया जा रहा है। आने वाले दिनों में सारे सिस्टम ई प्लेटफार्म पर ही कार्य करेंगे। पास और पीटीओ को भी आनलाइन करने की योजना है। प्रकिया शुरू है। इस नई व्यवस्था से रेलकर्मियों को राहत मिलेगी। – पंकज कुमार सिंह, सीपीआरओ, एनई रेलवे।