Indian Railways releases list of 30 special trains; check complete ...

कोरोना काल के अनलॉक पीरियड में रेलवे ने अपने कर्मचारी व अधिकारियों से ट्रेवल हिस्ट्री की जानकारी मांगी है, वहीं कार्यालयों में हाजिरी को लेकर भी दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं। यदि रेल कर्मी या अधिकारी का आवास कंटेनमेंट जोन में आएगा, तो उसे किस तरह घर से ड्यूटी करनी है, इसको लेकर भी गाइडलाइन जारी की गई हैं।

इसी तरह यदि कोई कर्मचारी या अफसर कोरोना पॉजिटिव केस व्यक्ति के संपर्क में आया है या फिर उनके घर में कोई क्वारंटाइन है, तो उसकी जानकारी भी संबंधित अधिकारी को देनी होगी। यदि किसी में फ्लू जैसे लक्षण पाए जाते हैं, तो उसे रेलवे अस्पताल में चेकअप के लिए भेजा जाए। ऐसे कर्मचारियों या अधिकारियों को कार्यालय में आने से रोका जाए। अब रेलवे में वीडियो कॉन्फ्रेंसिग के माध्यम से दिशा-निर्देश दिए जा रहे हैं कि शारीरिक दूरी नियम का पालन किया जा सके।

जारी निर्देशों में कहा या है कि ग्रुप ए और बी स्टाफ की शत-प्रतिशत हाजिरी तय की जानी है। इसके अलावा ग्रुप सी और डी कर्मचारियों की हाजिरी 75 से 100 प्रतिशत के बीच रहेगी। खास है कि ग्रुप सी और डी में यदि आवश्यक कैटेगिरी के स्टाफ जैसे ट्रेन संचालन, स्वास्थ्य सेवाओं या सुरक्षा में है, उनकी हाजिरी शत-प्रतिशत रहेगी।

उप कार्यालय जिला प्रशासन की गाइडलाइन पर काम करेंगे। यदि कोई कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव मरीज के कांटेक्ट में आया है या फिर उनके घर में कोई सदस्य होम क्वारंटाइन है, इसकी सूचना भी संबंधित अधिकारी को दें। ऐसा कर्मचारी अपने घर से ही काम करेगा।

यदि किसी कर्मचारी का घर कंटेनमेंट जोन में है, तो इसकी सूचना कर्मचारी अपने अधिकारी को देनी होगी। ऐसे केसों में संबंधित अधिकारी अपनी शक्तियों का प्रयोग करते हुए इसकी कर्मचारी को अवकाश दें जो आवश्यक ड्यूटी दे रहे हैं। इसके अलावा 55 साल से अधिक आयु के कर्मचारियों का विशेष ध्यान रखा जाए।