Free railway ticket : Indian Railways reprimanded for giving free ...

कैंसिल टिकटों का भुगतान देने करने को रेलवे के पैसे नहीं है। कैंसिल टिकट का पैसा लेने को लोगों को कई चक्कर लगाने पड़ रहे हैं। उन्हें हर बार दूसरे दिन आने की बात कही जा रही है। इससे यात्रियों में रेलवे की व्यवस्था के खिलाफ रोष बढ़ रहा है।

मंगलवार को काठगोदाम स्टेशन पहुंचे तिकोनिया निवासी पूर्व फौजी जगमेल सिंह ने बताया कि उन्हें अमृतसर जाना था। लॉकडाउन के चलते टिकट कैंसिल हो गया। कैंसिल टिकट का पैसा लेने चार बार स्टेशन आ चुके हैं, लेकिन हर बार रुपये नहीं होने की बात कहकर लौटा दिया जाता है। नवीन मंडी तल्ली हल्द्वानी निवासी शिव कुमार ने बताया कि उनकी आंटी व उनके साथियों का लॉकडाउन के चलते टिकट कैंसिल हो गया।

कैंसिल टिकट के साढ़े चार हजार रुपये लेने हैं, लेकिन टिकट काउंटर पर रकम बड़ी बताकर बाद में आने को कहा गया है। रेल अधिकारियों ने बताया इज्जतनगर मंडल से कैश आ रहा है। कैंसिल टिकट वालों की संख्या अधिक होने के चलते कैश जल्द खत्म हो जा रहा है। ट्रेनों के नहीं चलने से रेलवे का खजाना भी खाली है।

कैंसिल टिकट के रिफंड के लिए रेलमंत्रालय ने काफी समय दिया है। उसी अनुरूप कैश भेजा जा रहा है। सभी के कैंसिल टिकट का भुगतान किया जाएगा।

– राजेन्द्र सिंह, पीआरओ, इज्जत नगर मंडल