Trade unions call for nationwide protest on July 3 | Deccan Herald

सरकार के साथ 1 नवंबर 2017 से वेतन समझौता लागू करने पर सहमति बनी थी

पब्लिक सेक्टर के बैंकों के 10 लाख कर्मचारियों ने वेतन समझौता लागू कराने की मांग को लेकर जुलाई से सरकार के खिलाफ असहयोग आंदोलन की तैयारी शुरू कर दी है। आंदोलन का आगाज 3 जुलाई से होगा। इससे पहले जनवरी 2015 में भी लगातार 6 दिन तक कर्मचारी आंदोलन की वजह से देशभर के बैंकों में ताले लगे रहे थे। असहयोग आंदोलन में बैंक कर्मचारियों  के द्वारा आमजन से जुड़ी सरकार की स्कीम का बहिष्कार किया जा सकता है। ऐसी स्थिति में आमजन के सामने बड़ी समस्याएं खड़ी हो सकती हैं।

सरकार के साथ 1 नवंबर 2017 से वेतन समझौता लागू करने पर सहमति बनी थी। इंडियन बैंकिंग एसोसिएशन व बैंकों के अधिकारी व कर्मचारी यूनियन के सदस्यों ने यूएफबीयू के बैनर तले यह तय किया था। बैंक अधिकारी व एआईपीएनबीओए सदस्य सुधेश पूनिया का कहना है कि केंद्रीय कर्मचारियों के सातवें वेतन की तरह ही सरकार को जल्दी ही बैंक कर्मचारियों के वेतन समझौते को लागू किया जाना चाहिए।

आमजन से जुड़ी सभी स्कीम्स पर ब्रेक लग सकते हैं। जनधन खातों, महिला, मजदूर व किसानों के खातों में डायरेक्ट बेनिफिट राशि का भुगतान नहीं होगा।