Health Hazards Caused By Contaminated Water Supply In Indian Railways

एक जून से तीन ट्रेनों के पुनर्संचालन की अनुमति के बाद रेलवे प्रशासन की ओर से इससे जुड़ी तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। रेलवे स्टेशन पर शारीरिक दूरी समेत अन्य मानकों का कड़ाई से पालन कराने को कई इंतजाम किए गए हैं। महत्वपूर्ण यह कि ट्रेन के निर्धारित समय से 90 मिनट पहले रेलवे स्टेशन पहुंचना होगा। 

23 मार्च को लॉकडाउन शुरू होते ही ट्रेनों का संचालन बंद करते हुए रेलवे स्टेशन को सील कर दिया गया था। 24 मार्च से हरिद्वार रेलवे स्टेशन पर रेल आरक्षण केंद्र को भी बंद कर दिया गया था। हालांकि 11 मई से प्रवासियों को लेकर श्रमिक स्पेशल ट्रेन पहुंचनी शुरू हुई। 27 मई को चेन्नई से आखिरी ट्रेन हरिद्वार पहुंची। वहीं 30 मई को उत्तराखंड में फंसे बिहार के प्रवासियों को लेकर आखिरी श्रमिक स्पेशल बेतिया के लिए रवाना हुई। अब एक जून से अप और डाउन में तीन जनशताब्दी ट्रेनें संचालित होंगी। 

हालांकि, तीनों जनशताब्दी (02056) देहरादून-नई दिल्ली जनशताब्दी, (02053) हरिद्वार-अमृतसर जनशताब्दी और (02091) देहरादून-काठगोदाम जनशताब्दी को भी स्पेशल ट्रेनों की श्रेणी में रखा गया है। इन ट्रेनों के नंबर से पहले एक अथवा दो के स्थान पर शून्य लगाया गया है। बहरहाल पहली जून से संचालित होने वाली इन ट्रेनों को लेकर रेलवे प्रशासन की ओर से तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। शारीरिक दूरी समेत अन्य मानकों का कड़ाई से पालन कराने के लिए स्टेशन परिसर में जगह-जगह बैरिकेडिंग के अलावा थ्री सीटर बेंचों के बीच में सफेद क्रॉस पट्टी बनाई गई है, जिससे बीच में कोई यात्री न बैठ सकें। 

स्टेशन डायरेक्टर अतुल शर्मा ने बताया कि प्लेटफार्म पर खानपान के स्टॉल बंद रहेंगे। यात्रियों को घर से ही खाना लेकर आना होगा। यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग भी कराई जाएगी। कोरोना संक्रमण जैसे लक्षण दिखने पर संबंधित को यात्रा की अनुमति नहीं दी जाएगी। 

यह हैं महत्वपूर्ण बातें 

  • ट्रेन के निर्धारित समय से 90 मिनट पहले पहुंचना होगा स्टेशन। 
  • मास्क लगाना होगा अनिवार्य। 
  • शारीरिक दूरी के मानकों का करना होगा पालन।
  • खाने-पीने की चीजें साथ लानी होगी। 
  • कन्फर्म टिकट होने पर ही मिलेगी यात्रा की अनुमति।