ऑनलाइन आरटीआई ने रेलवे में लम्बे समय से चली आ रही वरिष्ठता सूची (प्रमोशन के लिए) बनाने की प्रक्रिया पर ब्रेक लगा दिया है। सूचना के अधिकार ने अपनी ताकत इस कदर दिखाई कि एनई रेलवे में वरिष्ठता सूची के आधार पर होने जा रही ग्रुप सी से बी में प्रमोशन की परीक्षा भी स्थगित हो गई। अब परीक्षा के लिए नए सिरे से वरिष्ठता सूची बनेगी।








दरअसल, पूर्वोत्तर रेलवे में 7450 ग्रेड पे वाले कर्मचारियों की वरिष्ठता सूची बनाई जाती थी। इस सूची के आधार पर प्रोन्नति परीक्षा में शामिल होने का मौका दिया जाता था। ऐसा ही 2020 में भी हुआ। इसे लेकर परिचालन विभाग के टीआई आरके श्रीवास्तव ने आपत्ति जताई और शिकायत की कि पूरे भारतीय रेल में 6500 ग्रेड पे पर ही वरिष्ठता सूची बनती है जबकि एनई रेलवे 7450 ग्रेड पे पर वरिष्ठता सूची बनाकर ग्रुप बी की परीक्षा करा रहा है।




कोई हल निकलता न देख रेलकर्मी ने सूचना का अधिकार के तहत ऑनलाइन अर्जी लगा दी। आरटीआई के जवाब में बोर्ड ने स्थिति साफ की और बताया कि 6500 ग्रेड पर ही वरिष्ठता सूची बनाने का नियम है और इसी के आधार पर सूची बनाकर परीक्षा कराएं। यह पत्र आते ही अफसरों में खलबली मच गई और आनन-फानन में रेलवे के कार्मिक विभाग ने 14 फरवरी को होने वाली परीक्षा स्थगित कर दी।




दो हजार रेलकर्मियों को फायदा

एक रेलकर्मी की जागरूकता से 6500 का ग्रेड पा चुके बहुत से लोगों के लिए ग्रुप सी से बी की परीक्षा में शामिल होने का रास्ता खोल दिया है। 6500 ग्रेड पे पर वरिष्ठता सूची बनाए जाने की व्यवस्था के बाद रेलकर्मियों में खुशी की लहर है इससे 2000 रेलकर्मियों को फायदा होगा।

ग्रुप सी से बी में प्रमोशन की परीक्षा के लिए जो वरिष्ठता सूची बनी थी उसमें कुछ कमियां थीं। बोर्ड के निर्देश हैं कि 6500 से 10,000 ग्रेड पे पर वरिष्ठता सूची तैयार की जाए। बोर्ड के निर्देशों के पालन के लिए परीक्षा स्थगित की गई है। नए सिरे से वरिष्ठता सूची बनने के बाद परीक्षा कराई जाएगी।

– शैलेन्द्र कुमार, प्रमुख मुख्य कार्मिक अधिकारी, एनई रेलवे