सातवाँ वेतन आयोग – केंद्र इन कर्मियों की सैलरी में Budget 2020 के बाद कर सकता है इजाफा! प्रमोशन की भी है संभावना

डीए में बढ़ोत्तरी के बाद 1.1 करोड़ कर्मचारियों और पेंशनर्स को फायदा मिलेगा। एक्सपर्ट्स की कैल्कुलेशन के मुताबिक सरकार डीए में चार फासदी की बढ़ोत्तरी कर सकती है।

केंद्रीय कर्मचारियों को बजट 2020 के बाद केंद्र सरकार से बड़ा तोहफा मिल सकता है। बजट एक फरवरी 2020 को संसद में पेश किया जाना है। सरकार 28 अप्रैल के बाद कर्मचारियों के महंगाई भत्ते (डीए) में बढ़ोत्तरी कर सकती है।








डीए में बढ़ोत्तरी के बाद 1.1 करोड़ कर्मचारियों और पेंशनर्स को फायदा मिलेगा। एक्सपर्ट्स की कैल्कुलेशन के मुताबिक सरकार डीए में चार फासदी की बढ़ोत्तरी कर सकती है। पिछले साल अक्टूबर में कैबिनेट ने केंद्रीय कर्मचारियों के 5 फीसदी महंगाई भत्ता बढ़ाने के प्रस्ताव को मंजूरी दी थी। इसके बाद सरकारी कर्मचारियों की महंगाई भत्ता 12 फीसदी से बढ़कर 17 फीसदी हो गया। अगर ऐसा होता है तो मौजूदा डीए 17 फीसदी से बढ़कर 21 प्रतिशत कर सकता है।




बता दें कि कर्मचारियों की मांग है कि उनके न्यूनतम वेतन को 18,000 से 26,000 रुपए किया जाए। ऐसे में माना जा रहा है कि डीए में सरकार 4 फीसदी तक की बढ़ोत्तरी कर सकती है। ऐसा इसलिए क्योंकि नवंबर 2019 के उपभोक्ता मूल्य सूचकांक के आंकड़े आ चुके हैं। यह बढ़कर 328 अंक पर पहुंच गया है। मालूम हो कि कर्मचारियों के डीए में साल में दो बार (जनवरी और जुलाई) बढ़ोतरी की जाती है।




मालूम हो कि कर्मचारी न्यूनतम सैलरी में बढ़ोतरी के अलावा फिटमेंट फैक्टर में भी इजाफा चाहते हैं। कर्मचारियों ने मांग की है कि केंद्र सरकार फिटमेंट फैक्टर बढ़ाए। अगर सरकार इस पर मुहर लगाती है तो सैलरी में 8000 रुपए तक की बढ़ोतरी होगी।सरकार कई बार इन मांगों को टाल चुकी है।

बता दें कि वेतन आयोग एक ऐसी प्रशासनिक प्रणाली है जो सरकारी कर्मचारियों के वेतन का निर्धारण करने के लिए भारत सरकार द्वारा स्थापित की जाती है। वेतन आयोग मशविरा करता है और फिर उसी पर सरकार को अपनी सिफारिशें देता है।