भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआइ) ने खुदरा लोन समेत एमएसएमई सेक्टर के ग्राहकों को नए साल का तोहफा दिया है। बैंक ने एक्सटर्नल बेंचमार्क-बेस्ड रेट (ईबीआर) को 8.05 परसेंट से घटाकर 7.80 परसेंट प्रतिवर्ष कर दिया है। नई ब्याज दरें बुधवार से प्रभावी होंगी। नए घर खरीदारों को अब 8.15 परसेंट की जगह 7.90 परसेंट ब्याज देना होगा।








ब्याज दरों में कटौती का फायदा उन्हें मिलेगा, जिन्होंने फ्लोटिंग रेट की शर्तो पर लोन लिया है। एमएसएमई सेक्टर को भी सीधा लाभ होगा। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के निर्देश के बाद एसबीआइ ने होम लोन के लिए फ्लोटिंग रेट इस वर्ष जुलाई से शुरू किया था और अक्टूबर से फ्लोटिंग रेट तय करने के लिए रेपो-रेट को एक्सटर्नल बेंचमार्क के रूप में चुना था। उधर, इंडियन बैंक ने मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड्स बेस्ड लेंडिंग रेट्स (एमसीएलआर) में कटौती की है।








नई ब्याज दरें तीन जनवरी से प्रभाव में आएंगी। एक दिन के लोन पर नई एमसीएलआर दर 7.95 से घटकर 7.90 परसेंट हो जाएगी। एक माह की अवधि वाले लोन पर ब्याज दर 8.05 परसेंट, तीन माह पर 8.15 परसेंट, छह माह पर 8.20 परसेंट और एक वर्ष की अवधि वाले लोन पर 8.30 परसेंट की दर से ब्याज देय होगा।