रेलवे डिवीजन फिरोजपुर ने वातानुकूलित विभाग के 115 कर्मियों की सूची तैयार की है। इनमें से डिफाल्टर रेलकर्मियों को जबरन सेवानिवृत्त करने की तैयारी है। रेल मंडल कार्यालय फिरोजपुर के डिवीजनल पर्सनल अधिकारी द्वारा सूची जारी करने के बाद रेलकर्मियों में अफरातफरी मच गई है।








फिरोजपुर डिवीजन इलेक्ट्रिकल विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि रेलवे दिल्ली हेडक्वार्टर के अधिकारियों ने एक स्कीम लागू की है। इसके तहत 55 साल की आयु पूरी करने वाले और 30 साल की सर्विस पूरी कर चुके रेलकर्मियों का बायोडाटा मांगा है। इसकी सूची तैयार हो गई है।




अब एक कमेटी गठित की जाएगी जो जांच करेगी कि सूची में ऐसे कौन से रेलकर्मी हैं जो लंबे समय से ड्यूटी पर नहीं आ रहे हैं। इनमें से जिनके खिलाफ विजिलेंस केस बने हैं और जिन्हें चार्जशीट जारी हुई हैं, उन्हें जबरन सेवानिवृत्त किया जाएगा। इसके बाद इंजीनियरिंग, कामर्शियल, पर्सनल, आपरेटिंग व अन्य विभागों के कर्मियों की भी सूची तैयार की जाएगी।




रेलवे में कई घोटालों की चल रही जांच
रेल डिवीजन फिरोजपुर में करोड़ों रुपये के कई घोटालों की जांच सीबीआई कर रही है। इसके अलावा कई मामलों की जांच रेलवे विजिलेंस कर रही है। घोटालों में संलिप्त कर्मियों पर गाज गिरनी तय है।