ऑनलाइन होगी रेलवे कर्मचारियों की सर्विस बुक

देश भर के रेलवे कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर है। सर्विस रिकार्ड के लिए अब उन्हें डीआरएम (मंडल रेल प्रबंधक) कार्यालय का चक्कर लगाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। घर बैठे ही एक क्लिक पर वह अपना सारा डाटा देख सकेंगे। रेलवे अपने सभी कर्मचारियों का डाटा ऑनलाइन करने जा रहा है।

रेलवे के लाखों कर्मचारियों का सर्विस रिकार्ड अभी फाइलों में मैनुअल तरीके से दर्ज होता है। सर्विस बुक से जुड़े अधिकांश दस्तावेज डीआरएम कार्यालय में रखे हैं। ऐसे में सर्विस बुक के लिए मंडलीय कार्यालयों से दूर कर्मचारियों डीआरएम कार्यालय का चक्कर लगाना पड़ता है। इसके अलावा बाबुओं की मिलीभगत से फाइलों में छेड़छाड़ भी संभव थी।








उत्तर मध्य रेलवे के सहायक कार्मिक अधिकारी लवकुश कुमार ने बताया कि कर्मचारियों की समस्याओं को देखते हुए रेलवे बोर्ड ने सर्विस रिकार्ड ऑनलाइन करने का फैसला लिया है। इसके तहत रेलवे ने अलग से एचआरएमएस (ह्यूमन रिसोर्सेज मैनेजमेंट सिस्टम) साफ्टवेयर डेवलप किया गया है। इस साफ्टवेयर में कर्मचारियों की सर्विस बुक को स्कैन करके सुरक्षित किया जाएगा। साथ ही आगे का रिकार्ड ऑनलाइन ही अपलोड होता रहेगा। इसके जरिए कर्मचारी इंक्रीमेंट, प्रमोशन, सजा, अवकाश, प्रमोशन व इंक्रीमेंट में रोक जैसे आदेशों के साथ ही अन्य सर्विस रिकार्ड की जानकारी घर बैठक कर सकेंगे।




कर्मचारियों का पारिवारिक रिकार्ड भी इसमें होगा। प्रत्येक कर्मचारी को पासवर्ड दिया जाएगा, जिसके माध्यम से वह अपना रिकार्ड देख सकेगा। कर्मचारी के अलावा उसका रिकार्ड केवल सक्षम अधिकारी या कर्मचारी ही देख सकेंगे।

डीआरएम ऑफिस तक दौड़भाग होगी समाप्त, घर बैठे देख सकेंगे अपना रिकार्ड

21 अक्टूबर तक भरना होगा फार्म




सहायक कार्मिक अधिकारी लवकुश कुमार के मुताबिक इस योजना के तहत कर्मचारियों को एचआरएमएस फार्म बांटे जा रहे हैं, जिसमें उन्हें अपना विवरण भरना होगा। रेलवे बोर्ड ने फार्म भरने व साफ्टवेयर में डाटा अपलोड करने के लिए 21 अक्टूबर की तिथि निश्चित की है। नवंबर या दिसंबर में यह साफ्टवेयर पूरी तरह से काम करने लगेगा।