प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘न्यू इंडिया’ के सपने को साकार करने के लिए रेलवे ने भी नया कलेवर धारण करने की तैयारियां शुरू कर दी हैं। इसके तहत रेलवे के सभी 13 लाख कर्मचारियों को सरकार की नई सोच एवं कार्यशैली से अवगत कराने एवं उसे आत्मसात करने के लिए फाउंडेशन कोर्स कराया जाएगा। फाउंडेशन कोर्स में विशेष प्रदर्शन करने वाले कर्मचारियों को एडवांस्ड कोर्स करने का मौका मिलेगा।








प्रधानमंत्री मोदी के नए भारत के विजन को वित्त मंत्री ने बजट के माध्यम से सबके सामने पेश कर दिया है। अब सभी मंत्रलय और मंत्री अपने अपने स्तर पर इसे आगे बढ़ाने का प्रयास कर रहे हैं। इसी क्रम में रेलमंत्री गोयल ने सभी कर्मचारियों को फाउंडेशन कोर्स कराने की योजना बनाई है। इस कोर्स में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले कर्मचारियों को एडवांस्ड कोर्स कराकर नई रेल के स्वरूप को साकार करने में नेतृत्वकारी भूमिका निभाने के लिए तैयार किया जाएगा।




इस बीच रेल मंत्री पीयूष गोयल ने सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों को भी पत्र लिखकर रेलवे के विस्तार एवं आधुनिकीकरण में भागीदारी निभाने के लिए आगे आने का आमंत्रण दिया है। मुख्यमंत्रियांे को लिखे पत्र में गोयल ने उनसे बजट के लक्ष्यों के अनुरूप अपने मुख्य सचिवों को रेलवे अधिकारियों के साथ नियमित बैठकें कर विभिन्न लंबित एवं नवीन रेल परियोजनाओं को तेजी से आगे बढ़ाने में सहयोग की गुजारिश की है। गोयल ने खास तौर पर भूमि अधिग्रहण में आने वाली अड़चनों को दूर करने तथा रेलवे लाइनों और परिसरों के आसपास अतिक्रमण हटाने में मदद का अनुरोध मुख्यमंत्रियों से किया है।




वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा शुक्रवार को पेश बजट में रेलवे में उपनगरीय सेवाओं के विस्तार की बात कही गई है। 1इसके अलावा स्टेशनों के आधुनिकीकरण एवं यात्री तथा माल सेवाओं में सुधार के लिए निजी क्षेत्र की मदद लेने का प्रस्ताव किया गया है। पुराने आर्थिक मॉडल के आदी रेलवे कर्मचारी तथा कर्मचारी संगठन इस तरह के प्रस्तावों को हमेशा निजीकरण के प्रयासों के तौर पर देखते रहे हैं, जबकि हकीकत में ऐसा नहीं है।

निजी क्षेत्र की भागीदारी से रेलवे में पहले भी कई परियोजनाएं चलाई जा चुकी हैं और इनमें से ज्यादातर ने अच्छे परिणाम दिए हैं। पीपावाव पोर्ट रेल संपर्क योजना इसका सबसे पहला उदाहरण है।

>13 लाख रेलकर्मियों को जरूरी फाउंडेशन कोर्स कराया जाएगा

>मिथ्या धारणा को तोड़ने के लिए एडवांस्ड कोर्स की होगी व्यवस्था