भ्रष्ट अफसरों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करते हुए मोदी सरकार ने आयकर विभाग के दर्जनभर आला अधिकारियों की छुट्टी कर दी है। चीफ कमिश्नर, प्रिंसिपल कमिश्नर और कमिश्नर रैंक के इन अधिकारियों को वित्त मंत्रलय ने जबरन सेवानिवृत्त कर दिया है। केंद्र ने यह कठोर कदम उठाते हुए नौकरशाही को भी स्पष्ट संकेत दे दिया है।मंत्रलय के सूत्रों ने कहा कि केंद्रीय लोक सेवा (सेवानिवृत्ति) नियमावली, 1972 के मौलिक नियम 56 के तहत इन अधिकारियों को जबरन सेवानिवृत्त किया गया है। इन अधिकारियों पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप हैं।








इनके पास आय के ज्ञात स्रोतों से काफी अधिक संपत्ति पाई गई थी। आयकर विभाग ने इनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई भी की थी जिसे इन्होंने अदालत में चुनौती दी थी। यही वजह है कि सरकार ने इनके खिलाफ अब कठोर कदम उठाया है। सूत्रों ने कहा कि इन अधिकारियों में 1985 बैच के आइआरएस अधिकारी अशोक अग्रवाल भी शामिल हैं जिन पर चंद्रास्वामी की मदद करने वाले एक कारोबारी से वसूली करने का आरोप है। इसके अलावा 1989 बैच के एक अधिकारी का नाम भी इस सूची में है जिस पर दो महिला अधिकारियों के यौन शोषण का आरोप है। इसके अलावा 1985 बैच के एक अन्य आइआरएस अधिकारी का नाम भी इसमें शामिल है जिन्होंने तीन करोड़ रुपये से अधिक संपत्ति अपने नाम पर बना ली है।




इसके अलावा एक अन्य अधिकारी का नाम भी इस सूची में शामिल है जिन्हें घूस लेते हुए सीबीआइ ने गिरफ्तार किया था और सीवीसी ने भी उक्त अधिकारी के खिलाफ जांच का आदेश दिया था। एक अधिकारी ऐसा भी है जिसे उसके नकारापन के चलते सेवानिवृत्त किया गया है। वह टैक्स के बड़े-बड़े मामलों को निपटाने में नाकाम रहा था। वहीं एक अन्य अधिकारी ने आयकर अधिकारी के रूप में असेसमेंट ऑर्डर गलत जारी किये थे। इसलिए उन्हें जबरन रिटायर किया गया है। खास बात यह है कि इन अधिकारियों ने विभागीय कार्रवाई से बचने के लिये अदालत में बड़े-बड़े वकीलों का सहारा लिया था।




>>चीफ कमिश्नर रैंक तक के अधिकारी जबरन सेवानिवृत्त किए गए

>>कठोर कदम से केंद्र सरकार ने नौकरशाही को दिया कड़ा संदेश

जबरन सेवानिवृत्त किए गए अधिकारी

>>आलोक कुमार मित्र, कमिश्नर

>>अरुलप्पा बी, कमिश्नर

>>बीवी राजेंद्र, कमिश्नर

>>अजय कुमार सिंह, कमिश्नर

>>एसके श्रीवास्तव, कमिश्नर

>>होमी राजवंश, कमिश्नर

>>श्वेताभ सुमन, कमिश्नर

>> ए रविंदर, एडिशनल कमिश्नर

>>विवेक बत्र, एडिशनल कमिश्नर

>>चंद्रसेन भारती, एडिशनल कमिश्नर

>>अशोक कुमार अग्रवाल,ज्वाइंट कमिश्नर

>>राजकुमार भार्गव, असिस्टेंट कमिश्नर