रेलवे बोर्ड ने पश्चिम मध्य रेलवे सहित देश के सभी रेल जोनों के महाप्रबंधकों व अन्य आला अफसरों के साथ मंगलवार को मैराथन बैठक की. घंटों चली यह बैठक वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये हुई. बोर्ड अध्यक्ष ने सभी जोन मुखिया, मंडल मुखिया से पूछा कि चालू वित्तीय वर्ष में रेलवे काफी बदलाव चाहता है, यह बदलाव क्या और कैसे होगा, यह तो स्पष्ट नहीं हुआ, किंतु इतना जरूर है कि रेलवे की आय बढ़ाने, यात्री सुविधाओं के मामले में व्यापक असर आने वाले समय में अवश्य दिखेगा.








चालू वित्तीय वर्ष पश्चिम मध्य रेलवे के लिए काफी चुनौतीपूर्ण है. रेलवे बोर्ड बड़ा बदलाव चाहता है. यह बदलाव क्या और कैसा होगा?? यह स्पष्ट नहीं है. इस पर मंथन के लिए मंगलवार को रेलवे बोर्ड के अफसरों ने जोनल अफसरों के साथ 6 घंटे तक विचार- विमर्श किया. आने वाले कुछ महीनों में इसका असर दिखने लगेगा.








मंगलवार को 6 घंटे चली मैराथन बैठक में महाप्रबंधक अजय विजयवर्गीय सहित जोन के तीनों मंडलों के डीआरएम, एडीआरएम सहित सभी विभागीय प्रमुख मौजूद थे. सभी से सवाल किए गए कि आने वाले वर्ष में एैसे कौन-कौन से काम किए जाएं, जिससे टार्गेट तो पूरा हो ही. यात्री सुविधाओं पर भी पूरा-पूरा ध्यान हो. सभी विभागीय अफसरों ने अपनी-अपनी तरह से प्रस्ताव भी दिया है. सभी से विचार विमर्श करने के बाद प्लान तैयार किया जाएगा.