दो रेल अभियंता घूस लेते गिरफ्तार, वरिष्ठ मंडल संकेत एवं दूरसंचार अभियंता (संकेत) को छह लाख रिश्वत लेते पकड़ा. ‘ मंडल संकेत एवं दूरसंचार अभियंता (पूर्वी) को चार लाख की रिश्वत संग पकड़ा गया.

डीआरएम ऑफिस के संकेत एवं दूर संचार विभाग में शनिवार रात छापा मारने वाली सीबीआई टीम ने दो अफसरों को गिरफ्तार किया है। सीनियर डीएसटीई (सिग्नलिंग) नीरज पुरी गोस्वामी और डीएसटीई (ईस्ट) पीके सिंह क्रमश: छह और चार लाख रुपये लेते रंगेहाथ पकड़े गए। भोर तक दोनों अफसरों के चैंबरों में छानबीन और पूछताछ के बाद सीबीआई दोनों को गिरफ्तार करके लखनऊ ले गई। .








उत्तर मध्य रेलवे के इलाहाबाद मंडल में करछना और मनौरी स्टेशन पर संकेत एवं दूर संचार विभाग के काम का बिल पास करने के बदले ठेकेदार से रिश्वत की मांग की गई थी। मामले की शिकायत ठेकेदार की ओर से सीबीआई में की गई। सीबीआई ने शिकायत पर अफसरों के खिलाफ ट्रैप प्लान बनाया। शनिवार शाम एक अफसर को रकम लेने के लिए ठेकेदार ने बालसन चौराहे पर बुलाया। वहीं, सीबीआई ने रंगेहाथ अफसर को गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद दूसरे अफसर को भी रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया गया। इसके बाद सीबीआई ने पूरी रात दोनों अफसरों के चैंबर खुलवाकर दस्तावेज खंगाले और भोर में दोनों को लेकर लखनऊ चली गई। .




यह है पूरा मामला: रेलवे अफसरों ने बताया कि उत्तर मध्य रेलवे के इलाहाबाद मंडल अंतर्गत करछना और मनौरी स्टेशन पर संकेत एवं दूरसंचार विभाग से जुड़े काम का बिल पास करने के बदले दोनों अफसरों ने ठेकेदार से रिश्वत मांगी थी। कहा तो यहां तक जा रहा था कि काम कराए बगैर ही बिल पास करके रिश्वत ली जा रही थी। यह आरोप लगने के बाद सीनियर अफसरों ने पूछताछ की तो पता चला कि काम कराया जा चुका है।




सीबीआई ने भ्रष्टाचार के मामले में दो अफसरों को गिरफ्तार करके उनके चैंबर में छानबीन की। सीबीआई की रिपोर्ट पर सोमवार को पूरा ब्योरा जोनल जुख्यालय और रेलवे बोर्ड को भेजा जाएगा। दोनों अफसरों पर विभागीय अनुशासनात्मक कार्रवाई भी होगी। .