दशहरा पर अमृतसर में बड़े रेल हादसे में 65 लोगों की जान जाने के बाद भी रेलवे सचेत नहीं हो रहा है। हरदोई में सोमवार को लखनऊ-नई दिल्ली रूट पर काम कर रहे चार गैंगमैन की अकालतख्त एक्सप्रेस की चपेट में आने से मौत हो गई। गुस्साए परिजनों ने रेलवे पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए हंगामा किया और देर रात तक शव नहीं उठने दिए। रेल पथ निरीक्षक संडीला को निलंबित कर दिया गया है।.








दोपहर 12:05 बजे संडीला रेलवे स्टेशन से पांच किलोमीटर दूर उमरताली के बीच अप लाइन पर गैंगमैन कौशल, राजेश कुमार गौतम, राजेंद्र और रामस्वरूप पटरी की मरम्मत और वेल्डिंग का काम कर रहे थे। इसी दौरान संडीला से हरदोई की ओर जा रही तेज रफ्तार ट्रेन आ गई। गैंगमैन जब तक संभल पाते तब तक सभी ट्रेन की चपेट में आ गए। हादसा इस कदर भयावह था कि गैंगमैनों के शरीर के लोथड़े 30 किलोमीटर तक फैल गए। आसपास खेतों पर काम कर रहे ग्रामीण भागकर मौके पर पहुंचे। उधर, चारों गैंगमैनों के साथ काम कर रहे पांच और साथी विभागीय पूछताछ के डर से भाग निकले। संबंधित खबर .








मुरादाबाद। ट्रेन से चार गैंगमैन के कटने के मामले में डीआरएम एके सिंघल ने सीनियर सेक्शन इंजीनियर को निलंबित कर दिया गया है। मामले की जांच सीनियर रेल अफसरों की तीन सदस्यीय टीम करेगी। हादसे में मरने वाले कर्मचारियों की मुआवजा और अन्य देनदारी संबधी राशि पंद्रह में अदा कर दी जाएगी। सूचना मिलते ही मंडल मुख्यालय से एडीआरएम के साथ कई अफसर रवाना कर दिए गए।देर शाम तक रेल अफसर हादसे के शिकार गैंगमैन परिवार के साथ रहे और उनको हर संभव मदद देने का आश्वासन दिया।.