रेलवे बोर्ड दशहरे से पहले अपने क्लास थ्री व फोर कर्मचारियों को बोनस के रूप में 17950 रुपए देगा।

ऑल इंडिया रेलवे मैन्स फेडरेशन (एआईआरएफ) के जीएस एसजी मिश्रा व एजीएस एम. माथुर ने बताया कि बोर्ड ने पहले 75 दिन का बोनस देने का निर्णय लिया था। बाद में एआईआरएफ की मांग को मानते हुए बोर्ड ने 78 दिन का बोनस देने का निर्णय लिया।








 इसके लिए अलग से सप्लीमेंट्री बिल पास करके एक ही दिन में सीधे कर्मचारियों के बैंक खातों में बोनस के रुपए डाल दिए जाएंगे। रेलवे यूनियन के सुभाष पारीक ने बताया कि उत्पादकता के आधार (पीएलबी) पर बोनस मिलेगा। बीते साल 3500 की सीलिंग लिमिट बढ़ाकर 7000 रुपए की थी।

लिमिट बढ़ने से बोनस ज्यादा मिलेगा। गौरतलब है कि रायपुर मंडल में  रेलवे के करीब 6 हजार कर्मचारी है जिन्हें बोनस मिलेगा।








अगर उत्पादन के आधार पर देखा जाए तो वित्तीय वर्ष 2017-18 में रेलवे को माल ढुलाई से 12695.43 करोड़ का राजस्व प्राप्त हुआ, जबकि यात्रियों के टिकट से 2362.23 करोड़ रुपए राजस्व प्राप्त हुआ है, जो पिछले वर्ष से बेहतर है. अगर वेतनमान के आधार देखा जाएए तो पिछली बार छठे वेतनमान के अनुसार न्यूनतम वेतन 7000 रुपए के आधार पर बोनस का निर्धारण हुआ था, जिसमें कर्मचारियों को 17 हजार 951 रुपए बोनस दिया गया था.