जबलपुर. दीवाली अब ज्यादा दूर नहीं रही है. पर्व की कुछ तैयारियां तो शुरु भी हो चुकी हैं। दीवाली पर हर बार की तरह इस बार भी सरकारी अधिकारियों-कर्मचारियों को बोनस दिया जाएगा। इसके लिए प्रक्रिया शुरु भी की जा चुकी है। केंद्र सरकार के कर्मचारियों को इस दीवाली पर खासी राशि मिलने की उम्मीद है। सबसे ज्यादा राशि रेलवे कर्मियों को मिलने की उम्मीद है।








रेलवे सूत्रों के अनुसार इस बार दीवाली बोनस की राशि पिछले साल की तुलना में करीब दोगुनी मिलने की उम्मीद है। जानकारी के अनुसार पिछले साल रेलवे कर्मचारियों को छटवें वेतनमान के मुताबिक बोनस दिया गया था जबकि इस बार सातवें वेतनमान के अनुसार दीवाली बोनस दिए जाने की बात कही जा रही है। इससे बोनस राशि करीब दोगुनी हो जाने की बात कही जा रही है।




रेलवे कर्मियों को दीपावली पर इस वर्ष उत्पादकता आधारित बोनस मिलेगा। यह बोनस कितना होगा, इसका निर्णय बुधवार को होगा। रेलवे बोर्ड ने इसके लिए मान्यता प्राप्त फेडरेशन के प्रतिनिधियों की एक बैठक बुलाई है। इस बैठक में एआईआरएफ व एनएफआईआर के महामंत्री शामिल होंगे। पश्चिम मध्य रेलवे के जबलपुर, भोपाल व कोटा मंडल तथा पमरे में स्थित वर्कशॉप में लगभग 64 हजार कर्मचारियों को इसका लाभ मिलेगा।




इस बार 35902 रुपए बोनस मिल सकता है
उत्पादन के आधार पर यदि वित्तीय वर्ष 2017-18 के राजस्व पर नजर डाली जाए, तो पता चलता है कि इसमें रेलवे को माल ढुलाई से 12695.43 करोड़ रुपए मिले, जबकि यात्रियों के टिकट से 2362.23 करोड़ रुपए राजस्व प्राप्त हुआ, जो पिछले वर्ष से बेहतर है। अगर वेतनमान के आधार देखा जाए, तो पिछली बार छठे वेतनमान के अनुसार न्यूनतम वेतन 7000 रुपए के आधार पर बोनस का निर्धारण हुआ था। जिसमें कर्मचारियों को 17 हजार 951 रुपए बोनस दिया गया था। अब सातवां वेतनमान लागू है, इस आधार पर वेतन का निर्धारण किया जाता है तो कर्मचारियों इस बार 35902 रुपए बोनस मिल सकता है।