मुंबई-देहरादून एक्सप्रेस मोदीनगर स्टेशन पर बुधवार सवेरे कपलिंग टूटने से दो हिस्सों में विभाजित हो गई। ट्रेन दिल्ली से देहरादून जा रही थी। घटना से नाराज यात्रियों ने स्टेशन पर हंगामा किया। तकनीकी विभाग की टीम ने आधे घंटे बाद दूसरी कपलिंग डालकर ट्रेन को आगे के लिए रवाना किया।1मुंबई-देहरादून एक्सप्रेस सवेरे 8:17 बजे मोदीनगर स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर-1 पर आकर रुकी थी। 8:19 बजे ट्रेन आगे के लिए रवाना हुई तो स्लीपर कोच नंबर-6 व 7 के बीच में लगी कपलिंग टूट गई। इसमें इंजन वाला हिस्सा करीब 50 मीटर दूर चला गया, जबकि पीछे का हिस्सा प्लेटफार्म पर ही खड़ा रह गया।








ट्रेन के दो हिस्सों में विभाजित होते ही उसमें सवार यात्रियों ने समझा कि कोई बड़ा हादसा हो गया है। वे बचाओ-बचाओ चिल्लाने लगे। मौके पर जुटी जीआरपी व आरपीएफ ने यात्रियों को तकनीकी खामी के कारण ट्रेन के दो हिस्सों में विभाजित होने की बात बताकर शांत करने की कोशिश की। इसके बावजूद यात्रियों में ट्रेन से नीचे उतरकर हंगामा किया। रेलवे की तकनीकी विभाग की टीम ने कड़ी मशक्कत के बाद टीम ने दूसरी कपलिंग डालकर बोगियों को जोड़ा। परीक्षण के बाद 8:50 बजे ट्रेन को आगे के लिए रवाना किया गया। स्टेशन अधीक्षक ओमेंद्र सिंह का कहना है कि कपलिंग की चूड़ी घिसी हुई थी। इस कारण कपलिंग टूट गई थी।




मोदीनगर रेलवे स्टेशन पर दो हिस्सों में बंटी देहरादून एक्सप्रेस’जागरणजासं, इटावा : बुधवार को नई दिल्ली से पुरी जा रही नीलांचल एक्सप्रेस में वातानुकूलित कोच में गंदे कंबल-चादर को लेकर यात्री व टीटीआइ की भिड़ंत हो गई। यात्री ने रेलवे अधिकारियों से शिकायत कर टीटीआइ पर नशे में अभद्रता करने का आरोप लगाया। स्टापेज न होने के बाद भी इटावा जंक्शन पर ट्रेन रोककर टीटीआइ का मेडिकल कराया गया, वह नशे में नहीं मिले। यात्रियों के हंगामा करने पर ट्रेन को रवाना किया गया।




दिल्ली विश्वविद्यालय में लॉ में पीएचडी कर रहा छात्र रविप्रताप सिंह बुधवार को नई दिल्ली से इस ट्रेन से मीरजापुर जाने के लिए वातानुकूलित कोच बी-2 में सवार हुआ। कंबल-चादर स्वच्छ न होने की शिकायत करते हुए उसने कोच में ड्यूटी कर रहे टीटीआइ एमएम गौतम से शिकायत पुस्तिका मांगी। टीटीआइ ने समझाते हुए कंबल-चादर दूसरे लेने को कहा, इस पर दोनों में तकरार हो गई। रवि ने रेलवे दिल्ली-इलाहाबाद के जीएम, डीआरएम तथा आइजी को मैसेज करके टीटीआइ पर शराब के नशे में अभद्रता करने का आरोप लगाया। ट्रेन ने टूंडला स्टेशन पास कर लिया था। रेलवे कंट्रोल ने स्टेशन मास्टर इटावा एसके उपाध्याय से ट्रेन को रोककर टीटीआइ का चिकित्सकीय परीक्षण कराने को कहा। यह ट्रेन सुबह 11.02 बजे यहां रोकी गई।