केंद्रीय रेलमंत्री पीयूष गोयल ने इन्वेस्टर्स समिट में गुरुवार को यूपी के लिए सौगातों की झड़ी लगा दी। घोषणाओं के क्रम में गिनाया-दुधवा नेशनल पार्क और कतर्नियाघाट के बीच हेरिटेज ट्रेन चलाई जाएगी। फतेहपुर व बुंदेलखंड के झांसी में रेल कारखाना लगाया जाएगा। रायरबरेली रेल कोच फैक्ट्री की क्षमता 600 से बढ़ाकर 3000 कोच बनाने की करेंगे। वह यहीं नहीं रुके कहा-गोरखपुर का लोकोशेड इलेक्ट्रिक शेड में बदलने की प्रक्रिया जल्द शुरू की जाएगी।








बहराइच-लखीमपुर के बीच हेरिटेज ट्रेन चलेगी

रेलमंत्री ने ‘ईज आफ डूइंग बिजनेस सत्र में कहा कि दुधवा नेशनल पार्क और कतिर्नयाघाट, दोनों पर्यटन के लिए काफी महत्वपूर्ण हैं। कतर्नियाघाट सेंच्युरी में बाघ, तेंदुए, हिरण, हाथी, चीतल, बारहसिंघा व अन्य दुर्लभ वन्यजीव विहार करते हैं। इसी तरह दुधवा नेशनल पार्क टाइगर रिजर्व के रूप में जाना जाता है। पर्यटन के लिए महत्वपूर्ण इन दोनों स्थलों पर छोटी लाइन की हेरिटेज ट्रेन चलाई जाएगी। इसके डिब्बे काफी आकर्षक होंगे।




फतेहपुर व झांसी में रेल कारखाना

फतेहपुर रेल कारखाना में रेल उपकरण बनाए जाएंगे और झांसी में डिब्बों का आधुनिकीकरण किया जाएगा। झांसी में रेलवे की 300 एकड़ जमीन है। इसी तरह रायबरेली रेच कोच फैक्ट्री की मौजूदा क्षमता 600 डिब्बे बनाने की है। इसे बढ़ाकर एक साल में 1000, दो साल में 2000 और तीन साल में 3000 डिब्बे की जाएगी।

जनरल कोच में सुविधाएं बढ़ेंगी

उन्होंने कहा कि रेल यात्रा करने वाले कमजोर वर्ग के लोगों को बेहतर सुविधाएं देने के लिए जरनल कोच के डिब्बों का आधुनिकीकरण कराया जाएगा। इसके लिए देशभर के 58000 कोचों को बेहतर बनाने का लक्ष्य रखा गया है। केंद्र सरकार का मानना है कि जनरल डिब्बों में काफी संख्या में यात्री चलते हैं। इसलिए उनके आधुनिकीकरण का काम जल्द शुरू किया जाए।




यूपी में विकास के नए रास्ते खुले

रेलमंत्री ने अपनी बात मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को योगी महाराज से संबोधित करते हुए शुरू की। कहा कि यूपी में विकास के नए रास्ते खुले हैं। इन्वेस्टर्स समिट में निवेशकों-उद्योगपतियों की जुटान को देखकर यही कहा जा सकता है कि यह निवेशकों का महाकुंभ है। यूपी में कानून-व्यवस्था में काफी सुधार हुआ है। व्यापारियों के अंदर भय खत्म हुआ है। वे निवेश को तैयार हैं। इसके लिए योगी महाराज को बधाई देना चाहिए कि 11 माह में यूपी में काफी परिवर्तन किया है। पूरी सरकार बदलाव की दिशा में काम कर रही है।

योगी ने तोड़ा अपशकुन का मिथक

योगी महाराज ने नोएडा जाकर अपशकुन की पुरानी भ्रांति तोड़ी है। इसके पहले भी मुख्यमंत्री रहे लेकिन उन्होंने नोएडा जाने की हिम्मत नहीं जुटाई। योगी महाराज ने इस धारणा को तोड़ा है। नोएडा बड़ा व्यापारिक केंद्र है और वहां हजारों की संख्या में युवाओं को रोजगार मिलता है। नोएडा में बड़े-बड़े औद्योगिक घरानों ने फैक्ट्रियां लगाई हैं। इसलिए मुख्यमंत्री ने वहां जाकर एक अच्छा काम किया है।