ड्यूटी पर वाट्सएेप बंद रखें रेलकर्मी, नहीं तो होगी कार्रवाई, देश में पहली बार उत्तर रेलवे ने दिल्ली मंडल से इस व्यवस्था को लागू कर दिया है।

जयपुर. रेलवे कर्मचारी और अधिकारी ड्यूटी के दौरान वाट्सएप का उपयोग नहीं करेंगे। ट्रेन सेफ्टी, टिकिट चैकिंग, गैंगमैन, ट्रॉलीमैन सहित सभी कर्मचारी और अधिकारी अगर ड्यूटी के दौरान वाट्सएप चलाते मिले तो विभागीय जांच कर कार्रवाई की जाएगी। देश में पहली बार उत्तर रेलवे ने दिल्ली मंडल से इस व्यवस्था को लागू कर दिया है। रेलवे बोर्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि रेल कर्मचारियों और अधिकारियों की लापरवाही से हादसे बढ़ गए हैं। सफर को सुरक्षित बनाने के लिए सर्वे कराकर यात्रियों से फीडबैक लिया गया था।







हादसों की बड़ी वजह
यात्रियोंने हादसों में बढ़ोतरी की सबसे बड़ी वजह रेल सुरक्षा, संरक्षा में लगे कर्मचारियों और अधिकारियों का ड्यूटी के दौरान सोशल मीडिया के चैटिंग एप में व्यस्त रहना मानी गई। इस पर उत्तर रेलवे ने अक्टूबर के पहले सप्ताह में रेल सुरक्षा, संरक्षा, टिकिट चैकिंग, ट्रॉलीमैन को ड्यूटी के दौरान वाट्सएप बंद रखने के निर्देश दिए हैं। साथ ही वाट्सएप पर चैटिंग करते पकड़े जाने पर संबंधित पर जुर्माना लगाने और विभागीय कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए।








ड्यूटी के दौरान 60 % कर्मचारी वाट्सएप पर व्यस्त रहते हैं
रेलवेके सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जयपुर रेल मंडल में 10 हजार से ज्यादा कर्मचारी और अधिकारी हैं। इनमें से लगभग 60 प्रतिशत कर्मचारी ड्यूटी के दौरान वाट्सएप और दूसरे सोशल मीडिया एप पर चैटिंग में व्यस्त रहते हैं। एक अधिकारी के अनुसार ट्रेन ऑपरेशन के दौरान वाट्सएप का उपयोग करने पर कर्मचारी और अधिकारी का ध्यान बंटता है। इससे एक्सीडेंट और ट्रेन कटिंग होने का खतरा बढ़ जाता है।

duty-whats-app-st