700 ट्रेनों की बढ़ेगी रफ्तार, 48 मेल, एक्सप्रेस ट्रेनों को बनाया जाएगा सुपरफास्ट, गैंगमैन को मिलेगी किट, पानी और नाश्ते की वस्तुएं होंगी

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने रेल सुरक्षा पर खास तरजीह देते हुए यात्री सुविधाएं बढ़ाने घोषणा की है। इस क्रम में 48 मेल एक्सप्रेस ट्रेनों को सुपरफास्ट श्रेणी में लाने और 700 ट्रेनों का यात्रा समय कम किया जाएगा। ट्रेन और स्टेशनों में सीसीटीवी का कवरेज बढ़ाने पर जोर दिया जाएगा और रेलवे में लगातार सुधार किया जाएगा। इसके लिए सुरक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जाएगी। इसी के साथ राजधानी, शताब्दी और दूरंतो ट्रेनों में लागू फ्लेक्सी फेयर योजना में बदलाव किया जाएगा।

संरक्षा व सुरक्षा : गोयल ने बृहस्पतिवार को रेल भवन में कहा कि रेल मंत्रालय का कार्यभार संभालने के बाद एक महीने के दौरान जोनल रेलवे के कायरे की समीक्षा की। उन्होंने पाया कि रेलकर्मियों में बड़ी ताकत हैं, हनुमान की तरह हैं, पहाड़ हिला सकते हैं। रेलयात्रियों की सुरक्षा और रेलवे की संरक्षा सर्वोच्च प्राथमिकता है। सुरक्षा में सुधार के लिए नई लाइन, गेज परिवर्तन, रेल लाइनों के आवंटन, ट्रैक मरम्मत में कोताही नहीं बरती जाएगी। इसके लिए जरूरी सामानों की आपूर्ति होगी। अधिकारियों का फील्ड निरीक्षण बढ़ाया जाएगा। लाइनों की मरम्मत के लिए ब्लॉक दिए जाएंगे। रात में जब ट्रेनों का दबाव कम होगा तो ब्लॉक देकर मरम्मत कार्य किया जाएगा।

एक वर्ष में पांच हजार मानवरहित लेवल क्रासिंग को समाप्त किया जाएगा या कर्मचारी तैनात होंगे। इसरो के सैटेलाइट और जीपीएस से ट्रैक की निगरानी की जाएगी। दुर्घटना में मौत का कारण बनने वाले परम्परात आईसीएफ कोच समाप्त होंगे। उनकी जगह एलएचबी कोच लगाया जाएगा। यात्रियों की सुरक्षा के लिए स्टेशनों और ट्रेनों में सीसीटीवी कैमरों का दायरा बढ़ाया जाएगा।ट्रेनों के यात्रा समय में कमी : एक नवम्बर से लागू होने वाली नई समय-सारिणी में 48 मेल एक्सप्रेस ट्रेनों को सुपरफास्ट किया जाएगा।

इसके अलावा 700 ट्रेनों के यात्रा समय में कमी लाई जाएगी। अभी इन ट्रेनों के स्टॉपेज का अधिक समय व अन्य कारणों से यात्रा समय ज्यादा लगता है। इसके अलावा मुंबई में 100 नई उपनगरीय ट्रेनें चलाई जाएंगी।गैंगमैन को मिलेगी किट : रेल लाइनों का मरम्मत करने वाले गैंगमैन को किट मिलेगी। इस किट में उन्हें पानी, नाश्ता व भोजन की वस्तुएं व कोल्ड ड्रिंक मिलेगा। यह सुविधाएं मिलने से गैंगमैन अपनी ड्यूटी को और अधिक ढंग से निभा सकेंगे।

नहीं बंद होगा कारखाना : रेलमंत्री ने कहा कि विद्युतीकरण के लक्ष्य को बढ़ाया जाएगा। अभी तक प्रतिवर्ष चार हजार किलोमीटर का लक्ष्य विद्युतीकरण के लिए रखा गया है, उसमें वृद्धि की जाएगी। इसका मतलब यह नहीं कि मढौरा डीजल रेल कारखाना का काम बंद होगा। मढौरा डीजल कारखाने को लेकर अमेरिकी कंपनी जीई के साथ करार के अनुसार ही काम होगा। इस मुद्दे रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने भी कहा कि न तो मढ़ौरा और न ही डीजल रेल कारखाना वाराणसी बंद होगा।

रेल मंत्री ने स्वीकार किया, फ्लेक्सी फेयर योजना पर चल रहा मंथनफिलहाल कोई रेल किराया बढ़ाने की योजना नहीं : मनोज सिन्हा

ril-min-int-st