बेहतर रेल संचालन के लिए गार्डो की होगी काउंसलिंग

उत्तर रेलवे के सेफ्टी ऑडिट के तहत मुख्य संरक्षा अधिकारी एनके अंबिकेश ने बुधवार को गार्ड रनिंग रूम का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने गार्ड व लोको पायलट की काउंसलिंग किए जाने के निर्देश दिए, ताकि रेल संचालन को बेहतर किया जा सके और गार्ड व लोको पायलट का तनाव भी कम किया जा सके।








उन्होंने लोको पायलट व गार्ड की ब्रेथ एनालाइजर रिपोर्ट को अलग-अलग रजिस्टर में दर्ज करने को कहा। मुख्य संरक्षा अधिकारी ने निरीक्षण के दूसरे दिन भी लखनऊ-कानपुर रेलखंड का निरीक्षण किया। गार्ड रनिंग रुम का निरीक्षण के दौरान उन्होंने कई ट्रेन गार्ड से बात की।




साथ ही गाडरें की काउंसलिंग के लिए काउंसलर तैनात किए जाने के निर्देश दिए, आपातकाल की स्थिति में ये उससे निपट सके। इसके बाद सेफ्टी ऑडिट की टीम जैतीपुर रेलवे स्टेशन पहुंची।




उन्होंने जैतीपुर से लखनऊ के बीच ट्रेनों की गति 20 से 40 किलोमीटर प्रतिघंटा किए जाने के निर्देश दिए। उन्नाव से सोनिक के बीच कई रेलवे पुल पर पटरियां बदले जाने को कहा।

guard counselling t