चौदह सौ गैंगमैन बनेंगे स्टेशन मास्टर व गार्ड

रेलवे ट्रेनों का संचालन गैंगमैनों के हाथ में सौंपने जा रहा है। उत्तर रेलवे के चौदह सौ चतुर्थ श्रेणी कर्मियों को स्टेशन मास्टर व गार्ड के पद पर तैनात किया जाएगा। रिसर्च डिजाइन एंड स्टेंडर्ड आर्गेनाइजेशन (आरडीएसओ) की टीम साइको टेस्ट लेकर तैनाती के आदेश जारी करेगी। 1रेलवे भर्ती बोर्ड नियुक्ति करने में दो से तीन साल का समय लेता है। जितने कर्मियों की भर्ती करता है, उससे अधिक कर्मचारी सेवानिवृति हो जाते हैं।








जिससे रिक्त पदों की संख्या और बढ़ जाती है। भारतीय रेल में ट्रेन संचालन से जुड़े एक लाख से अधिक पद रिक्त पड़े हुए हैं। उत्तर रेलवे में 13 हजार पद रिक्त हैं। रेलवे बोर्ड ने गैंगमैन, की मैन, गेटमैन जैसे पदों पर भर्ती के लिए जोन स्तर पर रेलवे भर्ती सेल बना रखा है। जहां कम समय में नियुक्तियां की जा रही हैं। चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के पद पर काफी पढ़े लिखे युवक नौकरी करने आ रहे हैं। कई के पास तो बीटेक जैसी डिग्री भी हैं। 1दूसरी ओर लगातार नई ट्रेनें चलाई जा रही हैं और मालगाड़ियों की संख्या बढ़ रही है।




चालक, गार्ड, स्टेशन मास्टर की कमी से ट्रेनों को निरस्त करना पड़ता है। मुरादाबाद रेल मंडल में पीछे सात माह से 10 पैसेंजर ट्रेनों को नहीं चलाया जा रहा है। मालगाड़ी व ट्रेन चलाने के लिए अंबाला रेल मंडल के कुछ चालकों को मुरादाबाद भेजा गया है। रेलवे रिक्त पदों को भरने के लिए चतुर्थ श्रेणी में पढ़े लिखे कर्मचारियों का चयन कर सीधे चालक, स्टेशन मास्टर, गार्ड की पद पर तैनात करने जा रहा है। पिछले दिनों सामान्य विभाग प्रतियोगिता परीक्षा का आयोजन किया गया था।

जिसमें उत्तर रेलवे जोन के तीन हजार से अधिक गैंगमैन, कीमैन, गेटमैन ने ऑनलाइन परीक्षा दी थी। जिसमें 14 सौ कर्मियों को 18 सौ पे ग्रेड से 42 सौ पे ग्रेड में पदोन्नत करने को चयन किया गया है। जिन्हें स्टेशन मास्टर, गार्ड, चालक आदि बनाया जाएगा। मुरादाबाद रेल मंडल के तीन सौ चतुर्थ श्रेणी को पदोन्नत करने के लिए चयन हुआ है।




रेलवे बोर्ड ने आरडीएसओ की साइको टीम को नियुक्त किया है। जो चयनित चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों का साइको टेस्ट लेगा, टेस्ट में सफल होने वाले चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी को स्टेशन मास्टर, गार्ड आदि ट्रेनिंग के लिए भेज दिया जाएगा। इस संबंध में मुख्य कार्मिक अधिकारी अंग राजमोहन ने पत्र जारी किया है। 1उत्तर रेलवे मजदूर यूनियन के मंडल मंत्री मनोज कुमार शर्मा ने बताया कि नेशनल फेडरेशन इंडियन रेलमेन (एनएफआइआर) ने रेलवे बोर्ड की पीएनएम की बैठक में यह सुझाव दिया था, जिसके आधार पर रेलवे बोर्ड ने उक्त व्यवस्था की है। इस व्यवस्था से ट्रेनों से जुड़े रिक्त पदों को शीघ्र भरा जा सकेगा।

1400 gangmen