Tag: Reservation in Promotion

प्रमोशन में आरक्षण: 11 साल पुराने फैसले पर फिर विचार करेगा सुप्रीम कोर्ट

| January 9, 2018

नई दिल्ली :- सुप्रीम कोर्ट की 5 जजों की बेंच प्रमोशन में एससी और एसटी समुदायों के लोगों को आरक्षण देने के मुद्दे पर विचार करेगी। एक दशक पहले सुप्रीम कोर्ट ने ही फैसला सुनाया था कि प्रमोशन में एससी, एसटी समुदाय को आरक्षण देना राज्य सरकारों के लिए अनिवार्य नहीं है। तब कोर्ट ने कहा था […]

Read More

Supreme Court to reconsider Reservation in Promotions in Govt. Jobs

| November 29, 2017

NEW DELHI: The Supreme Court decided to examine if there was a need to reconsider its decade-old constitution bench judgment making it virtually impossible for the Centre and states to provide reservation in promotion for SCs and STs in government employment. Within 24 hours of a two-judge bench making a reference on the need for […]

Read More

पदोन्नति में आरक्षण मामले में केंद्र पहुंचा सुप्रीम कोर्ट

| November 28, 2017

पदोन्नति में आरक्षण मामले में केंद्र पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, 1997 से आरक्षण से पदोन्नति पाए कर्मचारियों की पदोन्नति वापस लेने का आदेश दिया था दिल्ली हाईकोर्ट ने केंद्र ने आदेश को चुनौती देते हुए सुप्रीम कोर्ट में लगाई विशेष अनुमति याचिका आखिरकार केंद्र सरकार हरकत में आयी है। दिल्ली हाईकोर्ट ने पदोन्नति में आरक्षण को […]

Read More

पदोन्नति में आरक्षण पर सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ में बहस

| November 16, 2017

संविधान के अनुच्छेद 16(4)(4ए)(4बी) की व्याख्या को दी गई चुनौती को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट में पदोन्नति में आरक्षण पर बहस एक बार फिर से शुरू होने जा रही है। सीजेआई जस्टिस दीपक मिश्र की अध्यक्षता वाली तीन जजों की पीठ ने बुधवार को इस मामले को संविधान पीठ को सौंप दिया। अब संवैधानिक पीठ […]

Read More

एससी-एसटी वर्ग के केंद्रीय कर्मियों को फिलहाल राहत नहीं

| November 4, 2017

नई दिल्ली1एससी-एसटी वर्ग के केंद्रीय कर्मियों को फिलहाल प्रोन्नति में आरक्षण का लाभ नहीं मिलेगा। उन्हें सुप्रीम कोर्ट से कोई अंतरिम राहत नहीं मिली। प्रोन्नति में आरक्षण रद करने का दिल्ली हाईकोर्ट का आदेश कायम है। शुक्रवार को न्यायमूर्ति कुरियन जोसेफ व न्यायमूर्ति आर. भानुमति की पीठ ने मामले में कोई भी आदेश जारी करने […]

Read More

Reservation in Promotion – Several Litigations pending in Supreme and Other courts left Ministries crippled

| October 4, 2017

पदोन्नति में आरक्षण पर मचा है घमासान, एक साल से नहीं हो रहे प्रमोशन, खाली होते जा रहे पद, कई मंत्रालयों ने चिट्ठी भेजकर पद भरने का आग्रह कियाराजनीति को प्रभावित करने वाले इस मसले को उच्चस्तर पर किया जा रहा नजरअंदाज सरकारी नौकरियों में पदोन्नति में आरक्षण पर विभिन्न हाई कोटरे और सुप्रीम कोर्ट के आदेश […]

Read More

Reservation in promotions – Supreme Court imposes three conditions for continuation

| October 3, 2017

एस.सी., एस.टी. कर्मचारियों को पदोन्नति में आरक्षण सर्वोच्च न्यायालय ने तीन मुख्य शर्तों को घोषित किया था जिनके आधार पर पदोन्नति में आरक्षण दिया जा सकता है… सर्वोच्च न्यायालय ने तीन मुख्य शर्तों को घोषित किया था जिनके आधार पर पदोन्नति में आरक्षण दिया जा सकता है – प्रथम, किसी वर्ग का पिछड़ापन, दूसरा, उचित […]

Read More

Delhi HC Quashes Centre’s 1997 OM On Reservation In Promotion

| August 30, 2017

दिल्ली उच्च न्यायालय ने मंगलवार को 16 नवंबर 1992 से पांच साल की अवधि तक लागू अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के कर्मचारियों को पदोन्नति में आरक्षण की व्यवस्था को जारी रखने वाले आदेश को रद कर दिया।कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश गीता मित्तल और न्यायमूर्ति सी हरिशंकर ने अगस्त 1997 में इस संबंध में कार्मिक एवं […]

Read More

आरक्षण के आधार पर प्रोन्नति का मामला क्षेत्रीय समिति के हवाले – हाई कोर्ट के आदेश

| August 19, 2017

हाईकोर्ट ने कई बार आदेश के बावजूद राज्य सरकार व उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की ओर से जवाब न दाखिल करने को गंभीरता से लिया है और पांच-पांच हजार रुपये हर्जाना जमा करने की शर्त पर 25 अगस्त तक जवाबी हलफनामा दाखिल करने का निर्देश दिया है। यह आदेश न्यायमूर्ति संगीता चन्द्रा ने दिलीप […]

Read More

No Reservation in Promotion – Latest Decision of High Court

| August 18, 2017

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने जनता इंटर कॉलेज अमरोहा के अर्थशास्त्र प्रवक्ता पद पर प्रोन्नति में आरक्षण देने के आदेश को रद कर दिया है। कोर्ट ने यह भी कहा है कि सुप्रीम कोर्ट उत्तर प्रदेश पावर कापरेरेशन केस में दिए गए फैसले के तहत प्रोन्नति में आरक्षण अवैध घोषित कर चुका है। 1साथ ही हाई […]

Read More