Career Corner: Job promotions... | Loop News

कोरोना काल की वजह से रेलवे में प्रोन्नति भी रुक गई है। इसका खामियाजा सीधे तौर पर कर्मचारियों को भुगतना पड़ रहा है। देशभर में सैकड़ों ऐसे कर्मचारी हैं, जो रिटायर हो गए और उन्हें प्रोन्नति का लाभ नहीं मिल सका। इस मामले को गंभीरता से लेकर नेशनल फेडरेशन ऑफ इंडियन रेलवेमेन ने रेलवे बोर्ड पर दबाव बनाया। फेडरेशन के दबाव पर रेलवे बोर्ड ने मामले की समीक्षा की और इसे सही पाया है।

रेलवे बोर्ड के ज्वाइंट डायरेक्टर स्थापना बी जोसेफ ने इस मामले को लेकर सभी जोनल रेलवे को पत्र जारी किया है। उन्होंने कहा है कि पूर्व की भांति प्रमोशन देना व्यवहारिक तौर पर संभव नहीं है। इस मामले में क्षेत्रीय रेलवे जल्द से जल्द निर्णय लेकर रेलवे बोर्ड को अवगत कराएं।

अप्रैल से जुलाई तक 328 कर्मचारी हुए सेवानिवृत्त : धनबाद रेल मंडल में अप्रैल से जुलाई तक 328 कर्मचारी सेवानिवृत हुए हैं। इनमें ऐसे कई कर्मचारी हैं, जिन्हें प्रोन्नति का लाभ नहीं मिल पाया। इससे उनकी भविष्य की योजनाओं पर प्रतिकूल असर पड़ा है।

प्रोन्नति नहीं मिलने का खामियाजा रेलवे कर्मचारियों को भुगतना पड़ा है। भविष्य में ऐसा न हो इसके लिए जोनल रेलवे शीघ्र चयन प्रक्रिया पूरी कर रेलवे बोर्ड को अवगत कराएं। -पीएस चतुर्वेदी, जोनल सचिव,  नेशनल फेडरेशन ऑफ इंडियन रेलवेमेन।