BREAKING देशभर में रेलवे 11 हजार पद करेगा समाप्त

रेलवे में संगठन भले निजीकरण व निगमीकरण का विरोध करें, लेकिन पिछले दरवाजे से रेलवे ने कई पदों को समाप्त करने जा रही है। देशभर में 11 हजार से अधिक तो अकेले पश्चिम रेलवे में ही करीब 700 पद को समाप्त करने का निर्णय ले लिया गया है। इसमे रतलाम रेल मंडल के करीब 75 पद शामिल है। पद को भरने के बजाए इनको विभागीय पदोन्नती करके भरा जाएगा। इससे नई नियुक्ति की उम्मीद कम हो जाएगी।

पिछले कई दिनों से रेलवे में संगठन के सदस्य निजीकरण का विरोध कर रहे है। इसमे वेस्टर्न रेलवे मजदूर संघ, वेस्टर्न रेलवे एम्प्लाइज यूनियन, ओबीसी, एससीएसटी, इंजीनियर्स एसोसिएशन के अलावा सरकार समर्थित पश्चिम रेलवे कर्मचारी परिषद भी शामिल है। इन संगठनों के केंद्रीय नेतृत्व ने निजीकरण से लेकर नई नियुक्ति नहीं करने, विभागीय पदोन्नती में देरी आदि पर अपना विरोध भी जताया है। इसके बाद भी रेलवे में कई पद को समाप्त करने के निर्णय को बदला नहीं है।

संरक्षा व सुरक्षा पर असर रेलवे एक तरफ सुरक्षित यात्रा के लिए यात्रियों को भरोसा देता है, दूसरी तरफ संरक्षा व सुरक्षा के कई पद रिक्त है। इन पद को भरने के लिए पिछले दो वर्ष से रेल संगठन कह रहे है। अब जाकर इनको भरने के लिए नई नियुक्ति के बजाए विभागीय पदोन्नती देकर भरने को कहा गया है। इसके बाद रेल कर्मचारियों में तो खुशी है, लेकिन लंबे समय से नई वेंकेसी का इंतजार कर रहे बैरोजगारों में निराशा है।

700 पद सरेंडर, कई पद रिक्त पश्चिम रेलवे ने करीब 700 पद को सरेंडर याने की समाप्त करने का निर्णय लिया है। रेल मंडल में इसमे 10 प्रतिशत से अधिक याने की 75 पद शामिल है। यह तब हो रहा है जब पश्चिम रेलवे में ही संरक्षा व सुरक्षा के कई पद रिक्त पड़े हुए है। रेलवे में नई बहाली के बजाए पद को समाप्त करने से रेल संगठन भी अब नाराज है। रेल मंडल में जनवरी से जुलाई तक करीब ५०० कर्मचारी रिटायर्ड हुए, लेकिन इनके पद को भरने के बजाए इनके कार्यो को अन्य कर्मचारियों को सौप दिया गया। इसके चलते अब लार्जेस योजना को शुरू करने की मांग हो रही है।

इस तरह होंगे समाप्त पद
मध्य रेलवे में 1000 पद समाप्त होंगे।
पूर्व रेलवे में 1100 पद समाप्त होंगे।
पूर्व मध्य रेलवे में 300 पद समाप्त होंगे।
ईसीओआर में 700 पद समाप्त होंगे।

उत्तर रेलवे में 1500 पद समाप्त होंगे।
एनएफआर में 550 पद समाप्त होंगे।
उत्तर मध्य रेलवे में 165 पद समाप्त होंगे।
उत्तर पूर्व रेलवे में 700 पद समाप्त होंगे।

उत्तर पश्चिम रेलवे में 300 पद समाप्त होंगे।
दक्षिण रेलवे में 1500 पद समाप्त होंगे।
उत्तर मध्य रेलवे में 800 पद समाप्त होंगे।
दक्षिण पूर्व रेलवे में 825 पद समाप्त होंगे।

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे में 400 पद समाप्त होंगे।
दक्षिण पश्चिम रेलवे में 200 पद समाप्त होंगे।
पश्चिम रेलवे में 700 पद समाप्त होंगे।
पश्चिम मध्य रेलवे में 300 पद समाप्त होंगे।

हम विरोध करेंगे इसका

लंबे समय से पद को सरेंडर करने का विरोध जारी है। कई पदों पर पदोन्नती की मांग हो रही है। समय रहते यह कार्य नहीं किया गया तो विरोध करते हुए आंदोलन किया जाएगा।
– बीके गर्ग, मंडल मंत्री वेस्टर्न रेलवे एम्प्लाइज यूनियन

किसी भी हालात में सरेंडर नहीं करने देंगे
एक भी पद को किसी भी हालात में सरेंडर नहीं करने देंगे। इसके लिए भूख हड़ताल से लेकर आमरण अनशन भी करना पड़ा तो किया जाएगा।
– नरेंद्रसिंह सोलंकी, सहायक मंडल मंत्री वेस्टर्न रेलवे एॅप्लाइज यूनियन