रेलवे मजदूर यूनियन का प्रदर्शन का नायाब तरीका, अब ऐसे होगा विरोध नीतियों का विरोध

| July 11, 2020
रेलवे मजदूर यूनियन का प्रदर्शन का नायाब तरीका, अब ऐसे होगा विरोध Gorakhpur News

यूनियन ने धरना-प्रदर्शन का नायाब तरीका खोज निकाला है। अब वे अपने कार्यस्थल से घंटी, ताली और सीटी बजाकर रेलवे के अधिकारियों तक अपनी आवाज पहुंचाएंगे। इससे कार्य भी प्रभावित नहीं होगा और कर्मियों का विरोध भी रेलवे प्रशासन तक दर्ज हो जाएगा।

सोमवार से होगी घंटी बजाओ अभियान की शुरुआत यूनियन ने इसे घंटी बजाओ अभियान नाम दिया है। संयुक्त महामंत्री प्रदीप कुमार धर दूबे कहते हैं कि अभियान की शुरुआत 13 जुलाई को महामंत्री केएल गुप्त के नेतृत्व में यांत्रिक कारखाने से होगी। मंडल मंत्री दिलीप कुमार धर दूबे के अनुसार दोपहर 11.45 बजे से 12.00 बजे तक रेलकर्मी कार्यस्थल से ही ताली, घंटी, सीटी और हार्न बजाएंगे। उन्‍होंने कहा कि विरोध का यह कार्य जारी रहेगा। यदि रेलवे के कर्मचारी संगठन विरोध नहीं करेंगे तो फिर कौन करेगा। उन्‍होंने कहा कि हमारा यह आंदोलन सफल रहेगा।

रेलवे बोर्ड और सेंट्रल रेलवे के बीच पत्राचार के बाद ट्रेनें बंद का लिया फैसला रेलवे बोर्ड और सेंट्रल रेलवे के बीच पत्राचार होने के बाद सेंट्रल रेलवे ने यह आदेश जारी कर दिए हैं। लॉकडाउन 17 मई तक है, इसी बीच सेंट्रल रेलवे ने सभी यात्री ट्रेनों के परिचालन पर 31 मई तक रोक लगा दी है। हालांकि, रेलवे के दूसरे जोन में ट्रेनें पटरी पर उतरेगी या नहीं, इसका पुष्टि नहीं हो सकी।

संभावना है सेंट्रल रेलवे की इन जोन में भी संचालन रोका जा सकता है, सिर्फ स्पेशन ट्रेनें ही पटरी पर रहेगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को राष्ट्र के नाम संबोधन में लॉकडाउन के चौथे चरण का संकेत दे दिया है। उधर, कोरोना वायरस की वजह से रेलवे में ठप पड़ी अर्थव्यवस्था को कुछ रफ्तार मिली, लेकिन अब इसका इफेक्ट अब कर्मियों व अधिकारियों पर होता नजर आ रहा है।

Tags: , , , , , , , , , , , , , , ,

Category: News

About the Author ()

Comments are closed.