कोरोना से बचाव के लिए रेलवे ने किए कर्मचारियों के लिए विशेष प्रबंध, सुरक्षा कवच में रहेंगे रेलकर्मी

| July 6, 2020
Fake "Corona Antivirus" distributes BlackNET remote administration ...

कोरोना का संक्रमण गली-मुहल्लों से निकलकर अब सरकारी और गैर सरकारी कार्यालयों में भी पहुंच गया है। यह स्थिति देखते हुए रेलवे ने सतर्कता बरतनी शुरू कर दी है। यात्री सुरक्षा के साथ ही कर्मचारियों को सुरक्षित रखने के लिए रेलवे ने उन्हें सुरक्षा कवच से आच्छादित करने की तैयारी की है।

यात्रियों के सीधे संपर्क में आने वाले कर्मियों को मिलेगा सुरक्षा कवच कर्मचारियों और खासकर यात्रियों के सीधे संपर्क में आने वाले कर्मियों (परिचालन आरपीएफ, काउंटर डीलिंग के कर्मचारी) को फेस शील्ड, हैंंड सैनिटाइजर व फेस मास्क प्रदान किया जाएगा। कुछ विभागों और स्टेशनों पर वितरण शुरू भी कर दिया गया है।  

स्‍टेशनों पर सैनिटाइज वाले डिस्‍पेंसर लगाए जाएंगे उत्तर मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी अजीत सिंह के मुताबिक प्रयागराज मंडल में पब्लिक डीलिंग में दो से ढाई हजार कर्मचारी हैं जिसमें रेलवे सुरक्षा बल के जवान भी शामिल हैं। कहा कि यात्रियों से सीधे संपर्क में आने वाले कर्मचारियों के  साथ अन्य कर्मियों की सुरक्षा पर भी ध्यान है जिसके लिए मंडल में करीब तीन लाख मास्क मंगाए गए हैं। कर्मचारियों को मास्क दिए जा रहे हैं। एक कर्मचारी को कई फेस मास्क दिए जाएंगे जिसको वह समय-समय पर बदलकर इस्तेमाल कर सकेंगे। कार्यालयों व विभिन्न स्टेशनों पर 50 की संख्या में सैनिटाइज करने वाले डिस्पेंसर भी लगाए गए हैं। शीघ्र ही 90 और लगा दिए जाएंगे।

अब रेलवे अस्पताल में भर्ती होंगे संक्रमित मरीज कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के लिए बनाए गए कोटवा एट बनी लेवल वन अस्पताल अब फुल हो चुका है। 60 बेड के इस अस्पताल में किसी तरह 62 मरीजों को भर्ती कर इलाज किया जा रहा है। इसके बाद आने वाले मरीजों को रेलवे अस्पताल में भर्ती किया जाएगा। जिसके लिए तैयारी पूरी कर ली गई है। कोरोना संक्रमण के विस्तार को देखते हुए उत्तर मध्य रेलवे के नवाब युसूफ रोड स्थित केंद्रीय अस्पताल में 100 बेड का कोरोना वार्ड बनाया गया है जिसमें संक्रमित मरीजों के इलाज की सभी सुविधाएं मुहैया हैं। कोविड लेवल-1 की सुविधा से युक्त इस अस्पताल में सोमवार से मरीजों को भर्ती किया जा सकता है। इसके लिए रेलवे अफसरों व जिला स्वास्थ्य महकमे के कोरोना के नोडल अफसर डाक्टर ऋषि सहाय के बीच बात हो चुकी है।

रेलवे ने तैयार किया है 130 कोच का आइसोलेशन वार्ड उत्तर मध्य रेलवे के मुख्य जनसंंपर्क अधिकारी अजीत सिंह के मुताबिक कोरोना के मरीजों के लिए उत्तर मध्य रेलवे में 130 कोच के आइसोलेशन वार्ड भी तैयार हैं जिसमें इलाज की सारी सुविधाएं हैं। आवश्यकता पडऩे इन सचल अस्पतालों में भी मरीजों को भर्ती किया जाएगा। प्रयागराज जंक्शन पर प्लेटफार्म छह की स्थिति अन्य से कुछ अलग होने पर जरूरत पडऩे पर आइसोलेशन वार्ड के लिए आरक्षित किया जा सकता है। कहा कि जरूरत पड़ी तो स्टेशन तक को बंद किया जा सकता है। वहीं कोरोना के नोडल अफसर डॉ. ऋषि सहाय ने बताया कि कोटवा बनी स्थित लेवल-1 अस्पताल मरीजों से फुल हो चुका है। अब आने वाले नए संक्रमित मरीजों को रेलवे के अस्पताल में भर्ती किया जाएगा।

Tags: , , , , , , , , , , , , , , ,

Category: News

About the Author ()

Comments are closed.