लॉकडाउन के कारण रेल कर्मचारियों की सालाना मुफ्त यात्रा अटकी, अब रेलवे बढ़ाएगा पास-पीटीओ की अवधि

| May 23, 2020
'शिकायतों' के बीच रेलवे का दावा, 'सिस्‍टम पर टिकट बुकिंग के लिए 101 ट्रेन उपलब्‍ध, दो लाख 37 हजार से अधिक टिकट बुक हुए'
  • एआईआरएफ की मांग पर डीजी (एचआर) ने दिए कार्रवाई के आदेश
  • पास-पीटीओ की वैधता बढ़ने से हजारों कर्मचारियों व आधिकारियों को मिलेगा मुफ्त यात्रा का लाभ

लॉकडाउन के कारण राजस्थान में काम कर रहे करीब 11 हजार रेल कर्मचारियों के मुफ्त यात्रा के लिए जारी किए जाने वाले सुविधा पास का पीरियड 30 मई को खत्म हो रहा है। कर्मचारी यूनियन्स ने रेलवे से इसकी अवधि बढ़ाने की मांग की है। 

यह मिलती है सुविधा रेलवे के अधिकारी, कर्मचारियों को उनके परिवार एवं आश्रित की मुफ्त यात्रा के लिए सुविधा पास जारी किए जाते हैं। इन पास की वैधता अवधि इनके जारी किए जाने की तिथि से 5 माह तक होती है। साल के आखिर में जारी पास की वैधता अगले साल के 30 मई तक होती है। अधिकतर अधिकारी एवं कर्मचारी बच्चों की छुट्टियों को ध्यान मे रखते हुए 31 दिसंबर को पास जारी कराते हैं और अप्रैल-मई माह में परिवार के साथ घूमने का प्रोग्राम बनाकर, ट्रेन में रिजर्वेशन करते हैं।

इस बार लॉकडाउन के कारण 22 मार्च से ट्रेनों का संचालन बंद कर दिया गया, जिसके चलते रेलवे कर्मचारियों और अधिकारियों के दिसंबर-2019 में जारी हुए सुविधा पास (पीपी) खराब यानी अवैध हो जाएंगे, जिसके कारण उनका एक सेट पास बिना यात्रा किए ही अमान्य हो जाएगा।

एनडब्ल्यूआरईयू के मंडल अध्यक्ष मुकेश चतुर्वेदी और जोनल संयुक्त सचिव सुभाष पारीक ने बताया कि इस मुद्दे को ऑल इंडिया रेलवे मेंस फेडरेशन (एआईआरएफ) के महामंत्री एसजी मिश्रा व सहायक महामंत्री मुकेश माथुर ने रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष वीके यादव के सामने पुरजोर तरीके से उठाया। इसके बाद हाल ही रेलवे के महानिदेशक (मानव संसाधन) ने संबंधित अधिशाषी निदेशकों को इस मामले में शीघ्र कार्यवाही करते हुए, सुविधा पास की अवधि को बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। रेलवे बोर्ड द्वारा जल्दी ही इस संबंध में आदेश जारी किए जाएंगे। गौरतलब है कि सुविधा पास की वैधता बढ़ने से इसका सीधा लाभ राजस्थान में कार्यरत 10 हजार से भी अधिक रेलकर्मियों एवं उनके परिजनों को होगा।

पीटीओ के लिए भी मान्य होगा आदेश रेलवे द्वारा कर्मचारियों को पास के अलावा सुविधा टिकट आदेश (पीटीओ) भी उपलब्ध कराए जाते हैं। यानी कर्मचारी को एक साल में मिलने वाले अगर तीनों पास खत्म हो जाते हैं, तो रेलवे कर्मचारी व उसके परिवार को रियायती यात्रा करने के लिए पीटीओ देती है, जिसके माध्यम से किराया एक चौथाई ही लगता है। कर्मचारी एक साल में अधिकतम छह पीटीओ का उपभोग कर सकता है। ऐसे में अगर किसी रेलकर्मी ने दिसंबर में पीटीओ निकलवाया था, तो उसके पीटीओ की अवधि को भी बढ़ाया जाएगा। 

Tags: , , , , , , , , ,

Category: News

About the Author ()

Comments are closed.