गैरहाजिरी पर कार्रवाई / रेलवे ने शुरू किया कर्मचारियों के अवकाश का लेखा-जोखा, लंबे समय से नदारद कर्मचारियों की कटेंगी छुट्टियां

| May 17, 2020

अगर आप रेलवे में कार्यरत हैं और लंबे समय से ऑफिस नहीं जा रहे हैं, तो आपको परेशानी का सामना करना पड़ेगा। ऐसा इसलिए क्योंकि रेलवे ने अब अपने कर्मचारियों की छुट्टियों का गणित लगाना शुरू कर दिया है। इसके लिए उत्तर पश्चिम रेलवे के डिप्टी सीपीओ परमेश्वर सेन ने सभी मंडलों और कारखानों के प्रमुख और कार्मिक विभाग के अधिकारियों को एक निर्देश जारी कर, छुट्टियों से जुड़ी गाइडलाइंस जारी की है। इसमें सभी मंडलों और कारखानों से उनके यहां कार्यरत कर्मचारियों की उपस्तिथियों का रिकॉर्ड मांगा है। 

लॉकडाउन से पहले से नदारद कर्मचारियों पर लटकी कार्रवाई की तलवार

रेलवे की नई गाइडलाइंस के अनुसार जो कर्मचारी 23 मार्च यानी लॉकडाउन के पहले से छुट्टियों पर हैं और बाद में वे लॉकडाउन के चलते ऑफिस नहीं आ रहे हैं, ऐसे कर्मचारियों पर डीएआर नियमों के तहत कार्रवाई की जाएगी और उन्हें आर्थिक दंड (उनके खाते में से छुट्टी काटी जाएगी) या लीव विदाउट पे (एलडब्लयूपी) भी दिया जाएगा। 

अनुमति लेकर छुट्टी पर गए और ड्यूटी के दौरान फंसे कर्मचारियों को स्पेशल सीएल
नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे एम्पलॉइज यूनियन के जोनल उपाध्यक्ष राजेश शर्मा व संयुक्त सचिव सुभाष पारीक ने बताया कि जो कर्मचारी लॉकडाउन से पहले अनुमति लेकर छुट्टी पर गए हुए हैं या मुख्यालय से बाहर हैं, उन्हें इस अवधि में स्पेशल कैजुअल लीव (स्पेशल सी एल) दी जाएगी यानी उनके निजी खाते से छुट्टी नहीं काटी जाएगी।

इससे ना तो उनके खिलाफ कोई प्रशासनिक कार्रवाई होगी और ना ही उन्हें आर्थिक नुकसान भी नहीं होगा। यह लाभ लॉकडाउन से पहले बाहरी ड्यूटी (ओडी) पर गए कर्मचारियों को भी मिलेगा।

Tags: , , , , , , , , , , , ,

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.