रेलवे कर्मचारियों में कोरोना की दस्तक संक्रमित रेलकर्मी के दो सहकर्मी पड़े बीमार, अस्पताल में भर्ती

| April 23, 2020

डीआरएम कार्यालय में कार्यरत ट्रैक मेंटेनर के संक्रमित पाए जाने के बाद रेल कर्मचारियों की धड़कनें बढ़ानेवाली एक और खबर सामने आई है। पॉजिटिव पाए गए रेलकर्मी के दो सहकर्मी बुखार, खांसी और सांस लेने में दिक्कत की शिकायत लेकर रेलवे अस्पताल पहुंचे हैं। दोनों को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है।

बीमार पड़नेवाले कर्मचारियों में एक महिला सहकर्मी तथा एक पुरुष कर्मचारी हैं। दोनों कर्मियों का कोरोना टेस्ट के लिए स्वाब लिया गया है। अभी जांच रिपोर्ट आनी बाकी है। दोनों कर्मियों में उभरे लक्षण को देख कर रेलवे के डॉक्टरों की चिंता बढ़ गई है। सबको जांच रिपोर्ट का इंतजार है। डॉक्टरों और रेलकर्मियों की चिंता लाजिमी है। दरअसल दोनों कर्मी संक्रमित कर्मी के सीधे संपर्क में आए थे। इनके नाम क्वारंटाइन की सूची में शामिल थे।

रेलवे अस्पताल बना डॉक्टरों का आशियाना, यहीं मिल रहा है खाना

रेलवे के चार डॉक्टरों का इन दिनों धनबाद मंडल रेल अस्पताल आशियाना बन गया है। यह सभी डॉक्टर संक्रमित रेल कर्मचारी के संपर्क में आए थे। चारों डॉक्टर के हॉस्पिटल के केबिन में रह रहे हैं। इसके अलावा इंजीनियरिंग विभाग के एक अधिकारी सहित एक दर्जन रेल कर्मचारी भी रेलवे अस्पताल में क्वारंटाइन पर हैं। एकांतवास के दौरान सभी अधिकारी व कर्मचारी के लिए रेलवे अस्पताल में ही खाना बन रहा है। अस्पताल के एक वरीय डॉक्टर अपने घर पर ही क्वारंटाइन पर हैं। जबकि कई कर्मचारी को भी घरों पर क्वारंटाइन किया गया है।

रिपोर्ट में देरी से बढ़ते जा रही बेचैनी

संक्रमित रेलकर्मी के संपर्क में आए 35 अधिकारी, कर्मी और डॉक्टर व अस्पताल कर्मियों की कोरोना जांच के लिए स्वाब लिया गया है। लेकिन रिपोर्ट आने में विलंब होने के कारण सैंपल देने वाले सभी लोगों के साथ-साथ उनके परिवार वालों की सांसें अटकी हुई हैं। सभी बेचैन हैं। रिपोर्ट निगेटिव आने के बावजूद सभी क्वारंटाइन अवधि पूरी करेंगे।

Category: News

About the Author ()

Comments are closed.