7वां वेतन आयोग : केंद्रीय कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर, अब इस तारीख को मिलेगा प्रमोशन

| April 3, 2020

कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी के कारण सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों का एनुअल अप्रेजल फिलहाल टाल दिया है. सरकारी विभागों को अपने कर्मचारियों की एनुअल परफॉर्मेंस एप्रेजल रिपोर्ट (APAR) 31 मार्च तक देनी थी लेकिन यह अब 31 मई तक जारी करने का आदेश आया है.









केंद्र सरकार के पर्सनल डिपार्टमेंट ने Central Civil Services के Group A, B और C के अफसरों की APAR जारी करने की दूसरी तारीख जारी की है. इस आदेश की कॉपी जी बिजनेस के पास है. आदेश के मुताबिक APAR 31 मई तक जारी हो जानी चाहिए और इसके बाद 1 महीने में अप्रैजल हो जाना चाहिए. आदेश में साफ है कि इस तारीख को फिर बढ़ाया नहीं जाएगा.
ऑल इंडिया ऑडिट एंड अकाउंट्स एसोसिएशन के जनरल सेक्रेटरी एचएस तिवारी ने बताया कि APAR 10 सितंबर से 10 अक्‍टूबर के बीच जारी करने का आदेश आया है ताकि प्रमोशन या अप्रेजल की प्रक्रिया 31 दिसंबर तक पूरी हो जाए.




तिवारी ने बताया कि केंद्रीय कर्मचारियों को साल में दो बार प्रमोशन/इंक्रीमेंट मिलता है. ये तारीखें हैं-1 जनवरी और 1 जुलाई. अगर कोई कर्मचारी 2 जनवरी से 30 जून के बीच को प्रमोशन मिला है तो उसे पहला इंक्रीमेंट (Increment) 1 जनवरी से ही मिलेगा. मतलब कर्मचारी अगर 2 जनवरी से 30 जून के बीच प्रमोशन के बाद अगली इंक्रीमेंट की तारीख (Date of Next Increment, DNI) 1 जुलाई देगा तो उसे नहीं माना जाएगा. वित्‍त राज्‍य मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने भी साफ किया है कि ऐसी तारीखों में प्रमोशन पर अगला इंक्रीमेंट 1 जनवरी को ही मिलेगा.




अफसरों को DoP (Date of Promotion) और DNI में कोई एक विकल्‍प चुनना होता है. यह रेगुलर प्रोसेस है. लेकिन, जिन अफसरों को 2 जनवरी से 30 जून के बीच प्रमोशन मिला है, उन्‍हें छह माह की सर्विस पूरी करने के बाद ही पहला इंक्रीमेंट मिलेगा. लेकिन वह ड्यू डेट 1 जनवरी ही होगी.
सरकारी विभाग के एक्‍सपेंडिचर डिपार्टमेंट ने 28 नवंबर 2019 को इस संबंध में आदेश जारी किया था. इसके मुताबिक अगर कोई कर्मचारी प्रमोशन की तय तारीख से इतर प्रमोशन पाता है तो उसे इंक्रीमेंट छह महीने की सर्विस पूरी होने के बाद, 1 जनवरी या 1 जुलाई, जो तारीख पहले पड़ेगी उस पर ही पहला इंक्रीमेंट मिलेगा.
एचएस तिवारी ने बताया कि सरकार हर कर्मचारी को प्रमोशन की तारीख (Date of Promotion, DoP) या इंक्रीमेंट की अगली तारीख (Date of Next Increment, DNI) का विकल्‍प देती है. कर्मचारी जो विकल्‍प चुनता है उसे उस आधार पर फायदा होता है.

Category: News, Seventh Pay Commission

About the Author ()

Comments are closed.